Naxalites

नक्सली कुंदन (Kundan Pahan) ये अपनी याचिका में सरकारी पॉलिसी के तहत सरेंडर करने और 5 साल की सजा काटने का हवाला दिया है।

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई को तेज करने के लिए मंगलवार को झारखंड और पश्चिम बंगाल के अधिकारियों के बीच मीटिंग हुई है।

आज के तकनीक के इस दौर में 15 लाख का इनामी नक्सली रामप्रसाद मार्डी उर्फ सचिन, मदन व आकाश का दस्ता दोनों राज्यों की पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है।

Naxalites News: अब 600 जवानों की निगरानी में 4 पुल बनाए जा रहे हैं, जिससे 100 गांवों में राशन पहुंचने में आसानी होगी।

ये शख्स नक्सलियों (Naxalites) को सप्लाई देने का काम करता है और नक्सली विचारधारा को फॉलो करता है। पूछताछ में दिलीप ने कई अहम जानकारियां दी हैं।

नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लोकल युवाओं का भरोसा जीतकर नक्सलियों की भाषा और उनकी रणनीति को समझने की कोशिश की जा रही है।

ये तीनों नक्सली एक कंस्ट्रक्शन कंपनी से लेवी की मांग कर रहे थे। इन्हीं नक्सलियों ने 16 मई को गया-पटना रोड पर आगजनी की थी और जेसीबी मशीन में आग लगा दी थी।

मिलिशिया प्लाटून का स्वयंभू सेक्शन कमाण्डर 32 वर्षीय कोरसा लच्छु और 29 वर्षीय उसकी पत्नी कोरसा अनिता ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है।

नक्सली (Naxalites) किसी के सगे नहीं होते। यहां तक कि वे अपने साथियों के भी अपने नहीं होते। अपने फायदे के लिए वे मासूम लोगों का इस्तेमाल करते हैं।

जवानों ने सुकमा जिले के रायगुड़ा की टेकरी से नक्सलियों (Naxalites) द्वारा डंप किए गए 18 पाइप बम, आईईडी, और विस्फोटक को बरामद किया।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षाबल जवानों ने यहां 10 जून को एक स्थायी वारंटी सहित तीन नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ के नक्सल (Naxalites) प्रभावित इलाकों में प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे नक्सल विरोधी अभियान और पुनर्वास नीति का लगातार सकारात्मक परिणाम नजर आ रहा है।

सुकमा जिले से सुरक्षाबलों ने एक नक्सली (Naxalites) को गिरफ्तार किया है। इस नक्सली ने जिले के केरलापाल थाना क्षेत्र के रवापारा जंगल में पुलिस पर फायरिंग की थी।

सासाराम जिले में पुलिस को नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ सफलता मिली है। सासाराम नगर थाना क्षेत्र से एक हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार किया है।

देश के सबसे बड़े अर्धसैनिक बल सीआरपीएफ को अब और मजबूत बनाया जाएगा। डीजी कुलदीप सिंह (DG Kuldeep Singh) ने इसके लिए रणनीति तैयार कर ली है।

सरेंडर करने वाले मिलिशिया सदस्य नक्सलियों धुरबेड़ा निवासी कमलू ध्रुवा, मालू ध्रुवा, गट्टाकाल निवासी राकेश उसेण्डी और गोमागाल डेंगलपुट्टीपारा निवासी हिड़मे कवाची शामिल हैं।

छानबीन में पुलिस ने पाया गया कि जिस नंबर से सभी लोगों को फोन कर धमकी दी गई, वो फोन गांव के ही एक व्यक्ति से चुराई गई थी।

यह भी पढ़ें