विकास का पहिया

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देने के की दिशा में लगातार काम किया जा रहा है। प्रदेश में सड़क व पुल बनाने का काम न रूके इसलिए अब किसी भी बैंक से लोन लेकर राज्यभर में सड़कें बनाई जाएंगी।

देश-विदेश में यार्न (धागा), फैब्रिक्स (कपड़ा) व गारमेंट्स (परिधान) बनानेवाली कंपनियों में प्रमुख कोयंबटूर स्थित केपीआर मिल्स ने झारखंड सरकार (Jharkhand Government) से राज्य की 12 हजार महिलाओं को रोजगार देगी।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की नई उद्योग नीति और कोरोना-काल में उद्योगों के हित में शासन द्वारा उठाए गए कदमों से राज्य में बेहतर औद्योगिक वातावरण का निर्माण हुआ है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) ने विकास के क्षेत्र में एक और उपलब्धि हासिल की है। छत्तीसगढ़ देश में टॉप 10 सर्वाधिक निजी निवेश प्राप्त करने वाला राज्य बन गया है। कोरोना काल और आर्थिक मंदी के दौर में प्रदेश के लिए यह बड़ी उपलब्धि है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सरकार हर क्षेत्र में विकास का काम तेजी से हो रहा है। मूलभूत सुविधाओं जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क आदि की बेहतरी पर शासन पूरा ध्यान दे रहा है। इसके अलावा कृषि के क्षेत्र के विकास पर भी प्रदेश सरकार जोर दे रही है।

सिलाजु, दोलंगी और उचरवा में नक्सलियों (Naxalites) का जमावड़ा रहा करता था। लोग यहां दहशत में थे। लेकिन सरकार और प्रशासन के प्रयासों की वजह से इस नक्सली इलाके (Naxal Area)  की फिजां अब बदल रही है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने 5 जनवरी को जांजगीर-चाम्पा जिले की जनता को 1083 करोड़ रुपये के 1255 विकास कार्यों की सौगात दी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कोरबा के ओपन थियेटर घंटा घर मैदान में आयोजित कार्यक्रम में 836 करोड़ रुपए से अधिक लागत के 883 विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की भूपेश बघेल सरकार (Bhupesh Baghel Government) ने नए साल के मौके पर 2021 का प्लान जनता के सामने रखा है। इसमें सरकार ने साल 2021 में राज्य के अंदर पूरे किए जाने वाले हर क्षेत्र के विकास कार्यों का ब्योरा दिया है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धुर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले का अरनपुर-जगरगुंडा मार्ग जल्दी ही चालू होगा। नक्सली हिंसा की वजह से यह मार्ग करीब दो दशक से बंद था।

झारखंड सरकार ने एक साल पूरे होने पर नौकरियां बांटीं, विकास योजनाएं और हाईटेक सुविधाएं शुरू कीं। इस दौरान राज्य के सभी 24 जिलों में भी प्रथम वर्षगांठ के अवसर पर विकास मेले का आयोजन किया गया।

प्रदेश की भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) सरकार ने 29 दिसंबर को सार्वजनिक-निजी भागीदारी (PPP) मॉडल के तहत राज्य में स्थापित होने वाले देश के पहले इथेनॉल संयंत्र के लिए एक MoU पर हस्ताक्षर किए।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) और विधानसभा के उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी ने 28 दिसंबर को विधानसभा परिसर स्थित समिति कक्ष में नए साल 2021 के शासकीय कैलेंडर का विमोचन किया।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाकर प्रदेश के विकास को रफ्तार दी जा रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) के नेतृत्व में आवासहीनों को आवास उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार काम किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सरकार और प्रशासन की ओर से लगातार औद्योगिक विकास को बढ़ावा दिया जा रहा है। अनुकूल औद्योगिक वातावरण बनाने के लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में उद्योग के क्षेत्र में लगातार विकास हो रहा है। नए उद्योग लगाने की दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा कई बड़े कदम उठाए गए हैं। उद्योग लगने से राज्य के हजारों लोगों को रोजगार मिलेंगे।

लाल आतंक (Naxalism) का गढ़ कहे जानेवाले छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर (Bastar) और जगदलपुर (Jagadalpur) के इलाकों में अब विकास की बयार बह रही है। यहां के युवाओं के भविष्य को संवारने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।

यह भी पढ़ें