नक्सलवाद का सच

झारखंड (Jharkhand) के जमशेदपुर में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ एक और कामयाबी मिली है। नक्सली गतिविधियों में सक्रिय रहे डुमरिया एरिया कमांडर सोबन मार्डी और उसकी पत्नी उर्मिला मेलगांडी ने 13 जुलाई को जमशेदपुर न्यायिक दंडाधिकारी प्रज्ञा वाजपेयी की कोर्ट में आत्मसमर्पण (Surrender) कर दिया।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) पर नकेल कसने की पुलिसिया कोशिश रंग ला रही है। पुलिस ने यहां बुधवार (15-07-2020) को बताया कि दंतेवाड़ा में 5 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। इनमें से तीन नक्सलियों पर 5 लाख रुपए का इनाम था।

तेलंगाना से आने वाले प्रवासी मजदूरों ने संक्रमण का फैलाव किया है। इस नक्सली इलाके में संक्रमण फैलने से नक्सली मूवमेंट में भी कमी आई है। बहुत से नक्सली (Naxali)जंगल छोड़कर इलाज कराने के लिए मुख्यधारा में लौट रहे हैं।

ओडिशा (Odisha) के मलकानगिरि जिले में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ पुलिस को कामयाबी मिली है। मलकानगिरी जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी ऋषिकेश खिलारी के सामने दो इनामी नक्सलियों ने आत्मसर्पण (Surrender) कर दिया।

दंतेवाड़ा में एक नक्सली दंपति (Naxali Couple) ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिषेक पल्लव के समक्ष एक नक्सली दंपति ने आत्मसमर्पण किया।

बिहार (Bihar) के बांका जिला में पुलिस को नक्सलवाद (Naxalism) के खिलाफ एक और कामयाबी मिली है। पिछले पांच सालों से फरार चल रहे एक नक्सली (Naxali) ने पुलिस के सामने सरेंडर (Surrender) कर दिया।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह जिले के पीरटांड़ थाना अंतर्गत पिपराटांड़ गांव में शनिवार (13 जून) की सुबह हार्डकोर नक्सली (Naxali) सुरेश मरांडी का सेंदरा करने एवं आठ लोगों को घर में बंद कर आग लगाने की मामले में पीरटांड़ थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद (Naxalism) के खिलाफ प्रशासन को लगातार सफलता मिल रही है। नक्सली विचारधारा से त्रस्त होकर और सरकार की पुनर्वास नीतियों से प्रभावित होकर नक्सली (Naxali) लगातार लाल आतंक (Red Terror) का रास्ता छोड़ मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं।

प्रशासन द्वारा नक्सलियों पर जबरदस्त प्रहार का असर दिखने लगा है। कई बड़े नक्सली (Naxals) या तो घेर कर ढेर कर दिए गए हैं या फिर उन्होंने कानून के डर से सरेंडर कर दिया है। अब सुकमा में एक साथ 7 नक्सलियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के सामने घुटने टेक दिए।

नक्सल संगठन की प्रताड़ना से तंग आकर छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली दंपति ने सरेंडर कर दिया। दोनों ने 7 जून को बीजापुर पुलिस के सामने अत्मसमर्पण कर दिया। डीआईजी सीआरपीएफ कोमल सिंह और पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप के सामने दोनों ने सरेंडर (Surrender) किया।

झारखंड (Jharkhand) में एक इनामी नक्सली (Naxali) ने अपनी प्रेमिका के साथ पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। सरेंडर नक्सली जोड़े (Naxal Couple) ने बताया कि वे एक-दूसरे से प्यार करते हैं और लाल आतंक का रास्ता छोड़कर अपना घर बसाना चाहते हैं।

इन नीतियों का मुख्य उद्देश्य है नक्सलियों को आत्मसमर्पण (Surrender) के लिए प्रोत्साहित करना ताकि वे खून-खराबे की जिंदगी को छोड़कर मुख्यधारा में लौट आएं और सुकून की जिंदगी जिएं। साथ ही देश और समाज के विकास में अपना योगदान दें।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की दंतेवाड़ा पुलिस (Police) को नक्सली उन्मूलन मोर्चे पर एक बड़ी सफलता हासिल हुई है। धुर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में एक इनामी नक्सली कमांडर (Naxali Commander) ने आत्मसमर्पण कर दिया है।

नक्सली आम इंसानों के साथ हैवानों सा व्यवहार करने के लिए कुख्यात हैं। एक सच यह भी है कि यह नक्सली (Naxali) अपने संगठन (Naxal Organization) के लोगों से भी क्रूरता करने से पीछे नहीं हटते।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने नक्सलियों (Naxals) की अवैध संपत्ति से जुड़े मामले में एक शख्स को कोलकाता से गिरफ्तार किया है। झारखंड  (Jharkhand) में नक्सलियों के निवेशक मनोज चौधरी को एनआईए ने 1 मई को कोलकाता से गिरफ्तार कर रांची ले आई।

अब छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों (Naxals) ने एक गांव का पुल तोड़ दिया। सबसे गंभीर बात यह है कि जिस पुल को नक्सलियों ने निशाना बनाया उसी पुल से होकर डॉक्टरों की मेडिकल टीम लोगों के इलाज के लिए आवाजाही करती है।

I learnt that Jamat-e-Islami is a key element of the Kashmir separatist movement. Processions being extremely vital means for keeping the sentiment alive, ensuring that the cause is seen as just, inciting youth for joining militancy and above all for attaching the element of honour with Jihad. These are funded by Pakistan, local religious bodies and even business community that owes, is forced or coerced to submit allegiance to the cause.

यह भी पढ़ें