नक्सलवाद का सच

नक्सली (Naxalites) बीरबल कहार 20 सालों से फरार चल रहा था और वह जंगल में ही रहता था। वह पुलिस को चकमा देने में माहिर था। इस बार वह पकड़ा गया।

नक्सली (Naxalite) विजय यादव ने हरवंशपुर गांव में पुलिस पर हमला किया था। गिरफ्तारी के बाद उसे जेल भेज दिया गया है और उससे पूछताछ जारी है।

गिरफ्तारी के बाद मुकेश ने कई मामलों में अपने शामिल होने की जानकारी पुलिस को दी है। उसने ये भी बताया है कि वह नक्सली (Naxalites) कैडर के लिए भर्ती करता था।

एसपी ने कहा कि कोसा मरकाम उत्तर बस्तर संभाग में माओवादी सैन्य कंपनी नंबर 05 के पलटन नंबर 2 का सदस्य था और कई घटनाओं में शामिल था।

Chhattisgarh: पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को जिले के गंगालूर थाना क्षेत्र के अंतर्गत पेड़ापाल पीड़िया गांव के जंगल में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई।

Naxalites: गोंदिया के नक्सल प्रभावित चीचगढ़ पुलिस थाना इलाके के कोसंबी के जंगलों से इस विस्फोटक को पुलिस ने बरामद किया है।

CRPF 154 बटालियन ने मोर्चा संभाल लिया है और टुंडी के मनियाडीह में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। बता दें कि इनामी नक्सली प्रशांत, टुंडी का ही रहने वाला है।

हैरानी की बात ये है कि नक्सली (Naxalites) इन ग्रामीणों को नैमेड़ इलाके से उठा ले गए थे लेकिन इनमें से 17 लोग वापस लौट आए लेकिन 5 ग्रामीण अभी भी लापता हैं।

झारखंड पुलिस और सुरक्षाबलों को गुरुवार को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने नक्सलियों की साजिश को नाकामयाब कर दिया है और पलामू में 4 लैंड माइंस को बरामद किया है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। नक्सलियों (Naxals) की नापाक हरकतों का माकूल जवाब दिया जा रहा है।

कोरसा ने मेडिकल की पढ़ाई नहीं की है लेकिन वह नक्सलियों (Naxalites) को इंजेक्शन लगाने, टांका लगाने और छोटी-मोटी बीमारियों की दवा देने की ट्रेनिंग देता था।

नक्सली (Naxalites) 21 सितंबर से शहीदी सप्ताह मना रहे हैं। ऐसे में वह आम जनता के बीच दहशत फैलाकर अपना वर्चस्व बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं।

Chhattisgarh: अकेले बीजापुर में ही नक्सलियों ने इस महीने 17 लोगों की हत्या की है। मृत लोगों में एक एएसआई और एक वन विभाग का रेंजर भी था।

Jharkhand के लातेहार में टीपीसी उग्रवादियों ने पर्चा फेंककर जेजेएमपी को चुनौती दी है और कहा है कि जेजेएमपी गुंडागर्दी करने वालों का गिरोह है

पुलिस ने प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के एक नक्सली (Naxalites) देवेंद्र जामुदा को गिरफ्तार किया है। इस मामले में एसपी अजय लिंडा ने जानकारी दी है।

हत्या के बाद नक्सलियों (Naxalites) ने उइका का शव कुंदेड़ मिस्सीगुड़ा के बीच फेंक दिया। इस घटना के बाद से पूरे इलाके में डर का माहौल है।

नक्सलियों (Naxalites) ने किसान पर पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाया और उसकी हत्या कर दी। इस घटना से इलाके के लोगों में भय का माहौल है।

यह भी पढ़ें