नक्सलवाद का सच

गश्ती दल जब इलाके की घेराबंदी कर रहा था उस समय नक्सलियों (Naxalites) ने गोलीबारी शुरू कर दी। अधिकारी ने कहा कि सिपाहियों की फायरिंग के फौरन बाद नक्सली हवा में गोलीबारी करते हुये वहां से बच निकले

झारखंड में इन दिनों भाकपा माओवादियों के साथ साथ टीपीसी के कई कुख्यात उग्रवादियों के खिलाफ एनआईए ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है।

गिरफ्तार नक्सली (Naxali) ने इन तमाम अपराधों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। पुलिस ने गिरफ्तार नक्सली के घर से तमाम तरह की नक्सल सामग्री बरामद की है। ऐसे में अब उसकी निशानदेही पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी। 

एक नक्सली की पहचान 24 वर्षीय कोरसा मासे उर्फ शांति के रूप में हुई है, उस पर 8 लाख रुपए का इनाम था। वह नक्सली माड़ डिवीजन में कंपनी नंबर एक की सदस्य है।

रामपोदो लोहरा (Rampodo Lohra) 2013 से पहले तक एक नक्सली थे, लेकिन 2013 में उन्होंने ऑपरेशन 'नई दिशाएं' के तहत पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ हो रही लगातार कार्रवाई से नक्सली संगठन बौखलाए हुए हैं और लगातार अपने संगठन के विस्तार पर जोर दे रहे हैं।

लोन वर्राटू अभियान (घर वापसी) से प्रभावित होकर 4 इनामी नक्सलियों समेत 8 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। खबर की पुष्टि दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने की है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। ताजा मामला ये है कि बीते कुछ दिनों से जो जंगल बॉर्डर से लगे हुए हैं।

बिहार में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी है। हार्डकोर नक्सली पिंटू राणा के सहयोगी बजरंगी कोड़ा को गिरफ्तार कर लिया गया है।

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच जानकारी मिली है कि चतरा पुलिस ने कोयलांचल में आतंक फैलाने वाले 4 लोगों को गिरफ्तार किया है।

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। PLFI के एरिया कमांडर समेत 2 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है।

विकास पांडे के नेतृत्व में छापेमारी दल का गठन किया गया और पिपरवार पुलिस ने लुकईया जंगल के पास कमांडर गणेश गंझू और नरेश गंझू को गिरफ्तार किया।

झारखंड (Jharkhand) के चतरा में पुलिस की दबिश के कारण 15 लाख के इनामी नक्सली कमांडर मुकेश गंझू उर्फ मुनेश्वर (Naxali Commander Mukesh Ganjhu) ने सरेंडर (Surrender) कर दिया।

प्रकाश राणा के पास से एक मेड इन अमेरिका लिखा हुआ ऑटोमेटिक पिस्टल, 6 जिंदा कारतूस, एक वॉकी-टॉकी, दो पाइप बम समेत काफी सामान बरामद हुआ है।

प्रशासन के लिए सबसे बड़ी चुनौती वैक्सीन को जिलों के अंदर केंद्रों में ले जाने की है, क्योंकि कई इलाके ऐसे हैं जो नक्सल (Naxalites) प्रभावित हैं।

घटना बीती रात की बताई जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक आठ से दस नक्सली गांव पहुंचे और सरपंच के पति को घर से उठा लिया, फिर जंगल जाकर उनकी हत्या कर दी।

एसपी ने बताया कि पंचायत के डबरी निर्माण कार्य में कमीशन लेने वाले नक्सली (Naxalites) कमांडर बुधरा के पखनाचुआं पहुंचने की जानकारी मिली थी।

यह भी पढ़ें