सच के सिपाही

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से शहीद (Martyr) एसआई मूलचंद कंवर की सवा साल की बेटी का भावुक कर देनेवाला वीडियो सामने आया है।

झारखंड (Jharkhand) के लातेहार जिला के चंदवा में हुए नक्सली हमले में दारोगा सुकरा उरांव शहीद हो गए थे। शहीद दारोगा सुकरा उरांव का पार्थिव शरीर 23 नवंबर को उनके पैतृक गांव घाघरा प्रखंड के चुमनू गांव लाया गया।

आज के दिन यानी 18 नवंबर को लद्दाख को बचाने वाले रणबांकुड़े की शहादत हुई थी। महज 37 साल की उम्र में शहीद होने वाले भारत मां के उस वीर सपूत का नाम है मेजर शैतान सिंह (Major Shaitan Singh)।

भारतीय थल सेना (Indian Army) की सबसे ताकतवर 21 स्ट्राइक कोर पाकिस्तान की सीमा के पास युद्धाभ्यास कर रही है। इस युद्धाभ्यास में भारतीय सेना (Indian Army) के 40 हजार जवान अभ्यास कर रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश के सुबाथू का जांबाज श्रीनगर में शहीद, पैट्रोलिंग के दौरान लैंड माइन विस्फोट में जवान हुआ शहीद

असम जिले के सिलचर इलाके के आसपास बीते 14 अक्टूबर को सीमा सुरक्षाबल (BSF) के 3 जवान एनआरसी ड्यूटी के लिए पेट्रोलिंग कर रहे थे। उसी दौरान नक्सलियों ने फायरिंग कर दी।

20 साल पहले कारगिल में शहीद हुए सैनिक की बेटी पूजा विभूति उरांव ने झारखंड पुलिस में दारोगा पद की शपथ लिया। यह बहुत ही भावनात्मक पल था पूजा और उनके परिवार के लिए।

दुश्मन ने पलक झपकाई और उसका काम तमाम। जी हां, चुस्ती, फुर्ती, दिलेरी और अदम्य साहस ने ही एनएसजी यानी नेशनल सिक्यूरिटी गार्ड को दुनिया की सबसे बेहतरीन कमांडो की श्रेणी में ला खड़ा करती है।

भारतीय सैनिक अपनी बहादुरी के लिए पूरी दुनिया में जाने जाते हैं। उनकी बहादुरी के एक से बढ़ कर एक किस्से मशहूर हैं। भारतीय सेना के अलग-अलग रेजीमेंट्स हैं। जिनकी अपनी खास पहचान है।

भारत पाकिस्तान एलओसी लाइन पर शहीद हुए झारखंड के गुमला के जवान संतोष गोप का पार्थिव शरीर 14 अक्टूबर की शाम रांची पहुंचा। एयरपोर्ट पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, सेना के अधिकारी, सूबे के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव, सुदर्शन भगत, रांची के डीसी सहित कई लोगों ने शहीद को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

धमतरी जिले में कुकरेल उप-तहसील के सलोनी गांव के रहने वाले पुलिस आरक्षक बसंत नेताम ने देश की सेवा करने के लिए साल 1992 में पुलिस की नौकरी ज्वॉइन की थी।

जम्मू-कश्मीर में भारत-पाकिस्तान सीमा पर पाकिस्तानी सैनिकों के द्वारा सीजफायर का उल्लंघन किया गया। इस घटना में एक जवान शहीद हो गया। शहीद जवान का नाम संतोष गोप है।

सन् 1758 में मीर कासिम ने पटना (वर्तमान में बिहार की राजधानी) पर हमला बोल दिया। उस वक्त बिहार के लड़ाकुओं ने मीर कासिम की सेना से जबदस्त तरीके से लोहा लिया और उन्हें नाको चना चबाने पर मजबूर कर दिया।

वायुसेना मुख्यालय ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के वायुसेना जवानों की सूची में स्क्वाड्रन लीडर रवि खन्ना के नाम को शामिल करने की मंजूरी प्रदान कर दी है

झारखंड के रांची में दशम फॉल के पास 4 अक्टूबर को हुई नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में राहे प्रखंड के चैनपुर गांव के जगुआर एसटीएफ के जवान खंजन कुमार महतो शहीद हो गए।

नक्सलियों (Naxals) के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए राहे प्रखंड के चैनपुर निवासी खंजन कुमार महतो का शव गांव में...

झारखंड के रांची में 4 अक्टूबर को हुए नक्सली हमले में पलामू के कुंदरी गांव के जवान अखिलेश राम शहीद हो गए।

यह भी पढ़ें