Indian Army

सेना (Indian Army) जब भी पाक के खिलाफ जंग के मैदान में उतरती है हमेशा फतह हासिल करती आई है। पाकिस्तान ने साल 1965 में गुस्ताखी कर भारतीय सेना के जवानों को ललकार दिया था। 

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में लड़ा गया कारगिल युद्ध (Kargil War) को दोनों देशों के बीच अबतक का सबसे भीषण युद्ध कहा जाता है। इस युद्ध में भारतीय सेना ने ऐसा पराक्रम दिखाया था जिसे यादकर दुश्मन देश आज भी कांप उठता होगा।

करगिल युद्ध में भारत के हाथों अपने सैनिकों के हताहत होने पर पाकिस्तान परमाणु हथियारों को तैनात करने और उसके संभावित इस्तेमाल की तैयारी कर रहा था।

पुलिस और सेना (Indian Army) के मुताबिक, कार्रवाई से डरे आतंकियों के पास नए ठिकाने ढूंढने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

भारतीय सेना (Indian Army) की आर्टिलरी रेजिमेंट (Artillery Regiment) ने 28 सितंबर को अपना 193वां स्थापना दिवस मनाया। सेना की उधमपुर स्थित नॉर्दन कमांड (Northern Command) ने इस खास मौके की बधाई भी दी है।

चीनी (China) अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारत ने जो 2290 करोड़ रुपए का अमेरिका से हथियार खरीदने का फैसला किया है, वह उसे सीमा पर बढ़त नहीं दिला सकता है।

साल 1962 का भारत-चीन युद्ध (Indo-China War 1962) दो ऐसी सेनाओं के बीच लड़ा गया, जिसमें से एक पूरी तैयार थी तो दूसरी बिल्कुल भी नहीं। युद्ध में हमारे जवानों ने संख्या में कम होने के बावजूद चीनी सैनिकों का डटकर सामना किया था। हथियार कम पड़ने पर हैंड टू हैंड फाइट तक की थी।

Indian Army: सुरेश कुमार 13 जैक रायफल में तैनात थे। जिला सिरमौर सैनिक वेलफेयर बोर्ड के उपनिदेशक मेजर दीपक धवन ने इस मामले की पुष्टि की।

भारत और चीन के बीच 1962 में भीषण युद्ध लड़ा गया था। चीन हमेशा से भारत की जमीन पर अपना कब्जा जमाने की फिराक में रहता है। हिमालयी बॉर्डर पर चीन के साथ भारत का सीमा विवाद सालों से चला आ रहा है।

Jammu and Kashmir: अधिकारियों के मुताबिक, 2020 में 130 युवक आतंकी बने, जिसमें 55 मारे गए हैं और 29 को पकड़े जाने का भी दावा किया गया है।

18 सितंबर, 2016 को हुए उरी हमले में सीमा पार बैठे आतंकियों का हाथ बताया गया। भारत ने इस हमले का बदला लेने के लिए 28-29 सितंबर की दरम्यानी रात को पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) को अंजाम दिया।

चीन (China) को हर मोर्चे पर मात देने के लिए भारत (India) पूरी तरह तैयार है। इसके अलावा चीन की हर दिन सामने आ रहीं नई चालबाजियों का जवाब देने के लिए भी भारत पुख्ता इंतजाम कर रहा है।

India China Faceoff: भारत-चीन के बीच विवाद जारी है। हालही में LAC पर चीन ने घुसपैठ की कोशिश भी की थी, ऐसे में भारतीय सैनिकों ने चीन को माकूल जवाब दिया था।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में लड़ा गया कारगिल युद्ध (Kargil War)  हमारे सैनिकों की बहादुरी को बयां करता है। इस युद्ध में भारतीय सैनिकों ने ऐसा पराक्रम दिखाया था जिसे यादकर दुश्मन देश आज भी थर-थर कांप उठता होगा।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में लड़े गए कारगिल युद्ध (Kargil War) में भारतीय सेना (Indian Army) ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। युद्ध में हमारे सैनिक दुश्मनों पर काल बनकर टूट पड़े थे

1962 के युद्ध के दौरान चीनी सेना ने जगह-जगह पोस्ट और सड़क का निर्माण कर दिया था जिसके जवाब में भारतीय सेना ने भी पोस्ट बना ली थी।

कारगिल (Kargil war) दुनिया की सबसे ऊंचाई पर लड़ा गया युद्ध था। इसमें पाकिस्तान के धोखे का भारत ने ऐसा जवाब दिया जिसे यादकर दुश्मन देश आज भी कांप उठता है।

यह भी पढ़ें