Indian Army

उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा के साथ सटे टंगडार (कुपवाड़ा) सेक्टर में पाकिस्तान ने बैट हमला किया, जिसे भारतीय सेना के जवानों ने नाकाम कर दिया।

लद्दाख में पड़ रही ठंड ने चीनी सेना को बड़ा नुकसान पहुंचाया है। पैंगोग झील के उत्तरी किनारे पर चीनी (China) सैनिकों को ठंड की वजह से जान गंवानी पड़ रही है।

भारत और पाकिस्तान के बीच साल 1971 में भीषण युद्ध लड़ा गया था। बांग्लादेश की आजादी के लिए लड़े गए इस युद्ध में भारतीय सेना (Indian Army) ने पाकिस्तानी सेना को धूल चटा दिया था।

भारत और पाकिस्तान के बीच साल 1999 में भीषण कारगिल युद्ध (Kargil War) लड़ा गया था। इस युद्ध में हमारे वीर सपूतों ने दुश्मनों को  बुरी तरह से हराया था। पाक ने एलओसी (LoC) पर धोखे से कारिगल के महत्वूपर्ण इलाकों पर कब्जा कर लिया था।

Jammu Kashmir: घाटी में आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इस बीच शोपियां के चखूरा एरिया में आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई है।

लद्दाख (Ladakh) में भारत और चीन के बीच जारी तनातनी के बीच एक नई खबर सामने आई है। अब लद्दाख में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) 2 साल में 45 नए पुल बनाएगा।

लद्दाख में भारत और चीन के बीच गतिरोध जारी है। इस बीच पूर्वी लद्दाख में सेना की फायर एंड फ्यूरी कोर (14 कोर) की कमान लेफ्टिनेंट जनरल पीजेके मेनन को दी गई है।

Indian Army Recruitment 2020: भारतीय सेना में नौकरी करने की चाह रखने वाले युवाओं के लिए बड़ा मौका है। सैलरी 1,77,500 रुपए प्रति माह तक है।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में युद्ध लड़ा गया था। इस युद्ध में पाकिस्तान को बुरी हार का सामना करना पड़ा था। पाकिस्तान को हराकर भारत इस युद्ध की बदौलत पहली बार वैश्विक ताकत बनकर उभरा था।

War of 1971: युद्ध में शामिल होने वाले सेवानिवृत्त कै. भूपाल सिंह गढ़िया और हवलदार जगत सिंह खेतवाल ने युद्ध के दिनों को याद करते हुए कई बातें साझा की है।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 में लड़े गए युद्ध (War of 1965) के पीछे की कई वजहें बताई जाती हैं। भारतीय सेना (Indian Army) ने इस युद्ध में पाकिस्तान को बुरी तरह से हराया था।

कैप्टन विजयंत थापर को कारगिल के 'हीरो' में शामिल किया जाता है। तोलोलिंग पोस्ट जीत जाने के बाद उन्होंने अपनी मां तृप्ति थापर को फोन किया था।

हेवी वेहिकल फैक्टरी (आवड़ी) में निर्मित विजयंत टैंक में गोलाबारी करने की अपार शक्ति के साथ-साथ चौतरफा घूम फिरकर मार गिराने की क्षमता रखता है।

भारतीय सेना लगातार अपनी ताकत बढ़ा रही है। शनिवार को जम्मू कश्मीर और लद्दाख के 301 युवा भारतीय सेना में शामिल हो गए।

पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देने की फिराक में रहता है। ताजा मामला पुंछ जिले के मनकोट सेक्टर का है।

भारतीय सेना की आर्टिलरी के हवलदार उपेंद्र सिंह तोमर (Upendra Singh Tomar) पलवल में शहीद हो गए। शनिवार को शहीद भूमि तरसमा में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में लड़ा गया युद्ध (War of 1971) बेहद ही भीषण माना जाता है। इस युद्ध में भारतीय सेना (Indian Army) पाकिस्तानी सेना को बुरी तरह से पटखनी दी थी।

यह भी पढ़ें