Indian Army

दो देशों को बीच सीमा का निर्धारण दो तरह से होता है जिनमें से एक है लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC)  और दूसरा इंटरनेशनल बॉर्डर (IB) है। एलओसी, पीओके और जम्मू-कश्मीर के बीच की रेखा है।

Indian Army Khadag Core: पाकिस्तान सेना के करीब नब्बे हजार जवानों को बंदी बनाकर युद्ध जीतने में इस कोर की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। यह कोर तीन स्ट्राइक कोर में महत्वपूर्ण मानी जाती हैं।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 की लड़ाई के बाद बांग्लादेश को आजादी मिली थी। बांग्लादेश, पाकिस्तान के अत्याचारों से आजाद हुआ और इसमें भारतीय सेना (Indian Army) की भूमिका को वह आज तक मानता है।

सेना में भर्ती (Indian Army Recruitment) होने की चाह रखने वाले युवाओं के लिए बड़ा मौका है। दीपावली के मौके पर हजारों युवाओं की सेना में भर्ती की जाएगी।

भारतीय सेना (Indian Army) ने जवाबी कार्रवाई की और पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तान का बंकर नष्ट हो गया।

भारत और चीन के बीच इस साल 15 जून की आधी रात को हिंसक झड़प हुई। चीन ने भारतीय सैनिकों पर धोखे से हमला किया था। भारतीय सरजमीं में घुसकर चीन ने हमारे सैनिकों पर हमला बोल दिया था। इस हमले में भारतीय सेना (Indian Army) के 20 जवान शहीद हो गए थे।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 में भीषण युद्ध (Indo-Pak War) लड़ा गया था। युद्ध में पाकिस्तान को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा था। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने कश्मीर को हड़पने की बहुत बड़ी साजिश रची थी।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में लड़े गए कारगिल युद्ध (Kargil War) में भारतीय सेना (Indina Army) ने जबरदस्त पराक्रम दिखाया था। सेना के जवान दुश्मनों पर कहर बनकर बरसे थे और उनकी कमर तोड़ दी थी।

भारत और चीन के बीच साल 1962 में भीषण युद्ध (Indo-China War 1962) लड़ा गया था। चीन ने इस युद्ध में भारत के खिलाफ एकतरफा जीत हासिल की थी। भारत युद्ध से पहले चीन को अपना करीबी दोस्त समझ रहा था, लेकिन वह दुश्मन निकला।

उस अंधेरी रात में जल्द ही फुरकान उसकी आंखों से दूर हो गया। ऋषभ के दिल में किसी अनहोनी का अंदेशा अब भी था। लाइन ऑफ कंट्रोल पर Indian Army हमेशा मुस्तैद थी। ऐसे में रात को किसी भी तरह की हरकत होती देख कर उनका कार्रवाई करना लाज़िमी था।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में भीषण युद्ध (India-Pakistan War) लड़ा गया था। बांग्लादेश की आजादी के लिए लड़े गए इस युद्ध में पाकिस्तान को ऐसा सबक सिखाया गया था, जिसे यादकर वह आज भी डरता होगा।

India Pakistan War 1948: आजादी के तुरंत बाद ही पाकिस्तान ने कश्मीर को पाने के लिए 1948 में नापाक साजिश रची जिसे सेना ने बुरी तरह से विफल कर दिया।

Jammu and Kashmir: ठंड बढ़ने के साथ जो आतंकी पहाड़ों पर छिपे बैठे हैं, वह भी नीचे आएंगे। ऐसे में किश्तवाड़ शहर के आसपास आतंकी गतिविधियां बढ़ सकती हैं।

भारत और चीन के बीच LAC पर जारी के तनाव के बीच पूर्वी लद्दाख में भारत किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। लद्दाख सेक्टर में इंडियन आर्मी (Indian Army) और वायुसेना (Indian Air Force) दिन रात दुश्मनों पर नजर गड़ाए हुए हैं।

ये गिरफ्तारी नासिक के देवलाली स्थित सैन्य इलाके की तस्वीरें लेने और उन्हें शेयर करने के कारण की गई है। आरोपी की उम्र 21 साल है और उसका नाम संजीव कुमार है।

सेना दिवस के अवसर पर रॉश (Army Dogs) को सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया था। आरआर के जवानों के डॉग सहयोगी‚ उस समय सैनिकों की पहरेदारी करते हैं जब वे सो रहे होते हैं।

गलवान झड़प के शहीदों को समर्पित ये स्मारक (War Memorial) श्योक-दौलत बेग ओल्डी रास्ते पर निर्मित है। जहां पर भारतीय सेना के सभी 20 शहीद जवानों के नाम अंकित हैं।

यह भी पढ़ें