Delhi Police

दिल्ली (Delhi) की फतेहपुर बेरी थाना पुलिस (Police) ने इंसानियत की मिसाल पेश की है। पुलिस ने पहले तो दुष्कर्म पीड़िता गर्भवती युवती को एम्स में भर्ती कराया और जब उसे रक्त की जरूरत पड़ी तो पुलिस वालों ने ही रक्तदान भी किया।

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल को आज एक बड़ी कामयाबी मिली है। मुठभेड़ के बाद पुलिस ने 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया है।

Delhi Police Recruitment 2020: दिल्ली पुलिस में कॉन्स्टेबल के करीब 6000 पदों पर बंपर वैकेंसी निकली हुई है। ऑनलाइन आवेदन शुल्क जमा करने की आखिरी तारीख 9 सितंबर 2020 है।

जानकारी के मुताबिक मुस्तकीम जिस बाइक पर सवार था, उसके लिए गूगल लोकेशन भी ISIS के हैंडलर ने ही भेजी थी। ये सुनकर पुलिस भी दंग रह गई है।

आएशा के मुताबिक ISIS का संदिग्ध आतंकी यूसुफ काफी समय से संदिग्ध चीजों को जमा कर रहा था और मोबाइल पर आतंकी वीडियो देखता था।

यूपी के बलरामपुर के रहने वाले ISIS आतंकी अबू युसूफ (Abu Yusuf) की निशानदेही पर उसके पिता समेत 3 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने आतंकी संगठन ISIS के एक आतंकी को पकड़ा है। दिल्ली पुलिस को सूचना मिली थी कि एक आतंकी धौला कुआं और करोल बाग के बीच रिज इलाके में मौजूद है।

आतंकी (Terrorist) को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से विस्फोटक सामग्री भी बरामद हुई है। अब पुलिस इस मामले में जांच कर रही है और आतंकी के बारे में डिटेल्स निकाल रही है।

आईपीएस अधिकारी एसएन श्रीवास्तव (IPS SN Shrivastava) को दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त (कानून और व्यवस्था) के रूप में नियुक्त किया गया है।

Delhi voilence Ankit Sharma Murder News: घर पर मां चाय के लिए अंकित का इंतजार करती रही, लेकिन शायद उनके नसीब में मां के हाथ की चाय नहीं लिखी थी।

दिल्ली में सीएए के खिलाफ तीन दिनों तक जबरदस्त हिंसा होती रही और कई जानें इस हिंसा की बलि चढ़ गईं। इस हिंसा को शांत करने की ड्यूटी पूरी शिद्दत से निभा रहे दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल की मौत ने सबको झकझोर दिया है।

देश के सबसे बेहतरीन शिक्षा संस्थानों में से एक दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में एक बार फिर हिंसा का मामला सामने आया है। जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) ने दावा किया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने हिंसा को अंजाम दिया है।

स्पेशल सेल ने कुल 11 बड़े आतंक-विरोधी आभियान चलाए, जिनमें से 4 तो बीते चार महीनों में ही चलाए गए। दिल्ली पुलिस के ये ऑपरेशंस केवल दिल्ली तक ही सीमित नहीं थे। बल्कि इसके तहत जम्मू-कश्मीर, नेपाल सीमा और पूर्वोत्तर भारत में भी संदिग्ध आतंकियों की धरपकड़ की गई।

यह भी पढ़ें