Terrorists

जम्मू कश्मीर प्रशासन ये कोशिश कर रहा है कि घाटी के युवाओं को सही रास्ते पर लाया जाए और उन्हें आतंक के भटके हुए रास्ते पर जाने से बचाया जाए।

सेना ने आतंकियों से उनके संगठन के बारे में पूछताछ शुरू कर दी है। अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर से आतंकियों का पूरी तरह से सफाया करने के लिए बड़े स्तर पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

जवानों ने शाकिर को ढूंढने के लिए शोपियां में सर्च ऑपरेशन को तेज कर दिया है। शाकिर 162 बटालियन का हिस्सा हैं।

जम्मू कश्मीर में मौजूदा समय में 200 से कम आतंकवादी (Militants) सक्रिय हैं। इस साल अब तक सीमा पार से केवल 26 आतंकी ही इस केंद्रशासित प्रदेश में प्रवेश कर पाए हैं।

बीते कुछ समय से आतंकी लगातार नेताओं को अपना निशाना बना रहे हैं। इससे पहले 8 जून को भी आतंकियों ने लरकीपुरा इलाके के सरपंच और कांग्रेस के सदस्य अजय पंडित की हत्या कर दी थी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में अब तक मारे गए आतंकियों का प्रतिशत 88 फीसदी है जोकि 2019 में 79 फीसदी था।

जम्मू कश्मीर पुलिस इन युवकों से पूछताछ कर रही है। तीनों युवकों के पास से आपत्तिजनक सामग्रियां भी बरामद हुई हैं।

बडगाम जिले में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। खुफिया सूत्रों से मिले पुख्ता इनपुट के आधार पर पखेरपोरा इलाके से आतंकियों के तीन मददगारों (Terrorists Associates) को गिरफ्तार किया गया है। ये तीनों कुख्यात आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के मददगार बताए जा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) पुलिस ने जम्मू में टेरर फंडिंग मॉड्यूल (Terror Funding Module) का भंडाफोड़ किया है। पुलिस को इस बात की खुफिया सूचना मिली थी कि कश्मीर में आतंकियों (Terrorists) के लिए पाकिस्तान से हवाला के जरिए फंडिग की जा रही है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के अनंतनाग के श्रीगुफवाडा में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों (Terrorists) को मार गिराया है। कश्मीर जोन पुलिस को मिली गुप्त सूचना के आधार पर सर्च ऑपरेशन शुरू हुआ था।

अरुणाचल प्रदेश के तिरपा जिले में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने 11 जुलाई की सुबह इलाके में सेना ने आतंकवादियों (Terrorists) के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन चलाया था।

सपोर पुलिस ने 52 राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के साथ मिलकर पोटका मुक्कम और चन्नपोरा अथोरा में कॉर्डन एंड सर्च ऑपरेशन (CASO) शुरू किया। इस दौरान लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-taiba) के आतंकियों (Terrorists) के 4 सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया।

पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने 18 जून की रात एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर दो खालिस्तान समर्थक आतंकियों (Terrorists) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) द्वारा प्रायोजित किए जा रहे एक टेरर मॉडयूल का भंडाफोड़ किया है।

पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने 11 जून को पठानकोट से जम्मू-कश्मीर में सक्रिय लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया।

सूत्रों के अनुसार इस मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैय्यबा का टॉप कमांडर युसूफ कान्ट्रू अपने दो साथियों वसीम टाइगर और अबरार भट्ट के साथ यहां छिपा हुआ है। सुरक्षा बलों के आने के बाद इन आतंकियों (Terrorists) ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। 

शोपियां में सुरक्षा बलों ने जिन आतंकियों  (Militants) को '72 हूरों' के पास भेजा है उनके नाम क्रमश: शाकिर अहमद पाल (मोलु डंगेरपुर), आदिल हुसैन लोन (गनोपुरा), मुनी ऊल हक शेख (सुगान), औवैश अहमद भट (मोलु चित्रंगम) और अभी एक की पहचान नहीं हो सकी है।

शोपियां जिले में आज तड़के सुबह  सुरक्षाबलों और आतंकवादियों (Militants) के बीच फिर से एक बड़ी मुठभेड़ हो गई। शोपियां के पिंजोरा इलाके में जारी मुठभेड़ में भारतीय जवानों ने चार आतंकवादी (Militants) मार गिराया।

यह भी पढ़ें