Kashmir

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने घाटी की सुरक्षाव्यवस्था के मद्देनजर कश्मीर (Kashmir) के कुछ अलगाववादियों (Separatists) को रडार पर ले लिया है। दरअसल, इस बात का खुलासा हुआ है कि अलगाववादी आतंकी संगठनों की स्थानीय भर्तियों के लिए दस्तावेजों की व्यवस्था कर रहे हैं।

घाटी (Kashmir) के युवा अब आतंकवाद से दूर जा रहे हैं। वे सरकारी नौकरियों की तैयारी कर रहे हैं और अपने भविष्य को संवार रहे हैं। आज कश्मीर में युवा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेल में भी आगे जा रहे हैं।

सेना (Indian Army) जब भी पाक के खिलाफ जंग के मैदान में उतरती है हमेशा फतह हासिल करती आई है। पाकिस्तान ने साल 1965 में गुस्ताखी कर भारतीय सेना के जवानों को ललकार दिया था। 

कश्मीर घाटी (Kashmir) में सुरक्षाबलों की सख्ती देखकर अब आतंकियों (Terrorists) के पसीने छूट रहे हैं। जवानों द्वारा चलाए जा रहे अभियानों से आतंकियों के पैर उखड़ने लगे हैं।

चारू सिन्हा 1996 बैच की तेलंगाना कैडर की IPS अधिकारी हैं। चारू के अलावा 6 IPS और 4 सीनियर कैडर के अधिकारियों को भी CRPF में शामिल किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, ये मुठभेड़ कश्मीर (Kashmir) में श्रीनगर के पंथ चौक में हुई. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मारे गए आतंकियों की डेडबॉडी मिल गई है।

कश्मीर (Kashmir) में सुरक्षाबल आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रहे हैं। आए दिन हो रही मुठभेड़ों में बड़े आतंकियों का सफाया हो रहा है। सुरक्षाबलों की बढ़ती सक्रियता के बावजूद भी कई स्थानीय लोग आतंकी संगठनों में शामिल हो रहे हैं।

Kashmir: अगस्त में पहला आतंकी हमला 14 तारीख को नौगाम में हुआ था। इस हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस और SSB की ज्वाइंट नाका पार्टी को निशाना बनाया गया था।

जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने इस बारे में गुरुवार को जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में आतंकियों (Terrorists) का ढांचा ध्वस्त कर दिया गया।

Kashmir: प्रशांत ने 23 सितंबर 2014 को भारतीय सेना ज्वाइन की थी। इस दौरान उनकी उम्र महज 18 साल थी। वे 29 आरआर के जवान थे।

विभाजन के बाद से ही पाकिस्तान (Pakistan) की नजर कश्मीर (kashmir) पर थी जिसे वो आज तक हमसे नहीं छीन पाया है। ऐसा भारतीय सेना के शौर्य के चलते संभव हो सका है।

जम्मू कश्मीर प्रशासन ये कोशिश कर रहा है कि घाटी के युवाओं को सही रास्ते पर लाया जाए और उन्हें आतंक के भटके हुए रास्ते पर जाने से बचाया जाए।

सऊदी अरब से अपनी दोस्ती की डींगे हांकने वाला पाकिस्तान आज सऊदी अरब के सामने बैकफुट पर नजर आ रहा है।

कुपवाड़ा के पुलिस एसएसपी ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से करनाह सेक्टर के तंगधार में सीजफायर का उल्लंघन किया गया है। भारतीय सेना जवाब दे रही है।

युद्ध में भारतीय सैनिक शहीद भी हुए जिनकी वीरता के लिए आज पूरा देश उनपर गर्व महसूस करता है। सेना के कई ऐसे जवान हैं जिन्होंने खुद की जान की परवाह किए बिना दुश्मन को भारी नुकसान पहुंचाया।

ब्रिटेन (Britain) में विपक्षी लेबर पार्टी (Labour Party) के नए प्रमुख कीर स्टार्मर (Keir Starmer) ने कश्मीर को भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) का ‘द्विपक्षीय मुद्दा’ बताया।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) की स्थिति का जायजा लेने राज्य के दौरे पर आए यूरोपीय संघ के सांसदों ने कहा है...

यह भी पढ़ें