Kashmir: कोरोना काल में भी जारी है आतंकियों की भर्ती; 40 युवा हुए आतंकी संगठनों में शामिल, 50 लापता

सीमापार से गोलीबारी की घटनाएं नहीं हो रही हैं। लेकिन एक समस्या है जो अभी खत्म नहीं हुई है और वह है आतंकियों की भर्ती। कोविड-19 (Covid-19) महामारी के बावजूद कश्मीर (Kashmir) में आतंकियों (Terrorits) की भर्ती जारी है।

Krishna Mohan Jha

सांकेतिक तस्वीर।

कश्मीर (Kashmir) में सक्रिय रहे पाकिस्तान प्रायोजित आतंकी संगठनों की तरफ से अलग-अलग नामों वाले कई नए आतंकी समूह (Terrorist Groups) सामने आए हैं।

पाकिस्तान (Pakistan) के साथ सीजफायर (Ceasefire) की घोषणा के बाद नियंत्रण रेखा (LoC) पर थोड़ी शांति है। वहां, सीमापार से गोलीबारी की घटनाएं नहीं हो रही हैं। लेकिन एक समस्या है जो अभी खत्म नहीं हुई है और वह है आतंकियों की भर्ती। कोविड-19 (Covid-19) महामारी के बावजूद कश्मीर (Kashmir) में आतंकियों (Terrorits) की भर्ती जारी है।

सूत्रों के मुताबिक, इस साल कम से कम 40 युवा आतंकी संगठनों में शामिल हुए हैं, जबकि 50 लोग लापता हैं। लापता होने वाले कई लोगों के आतंकवादी समूहों (Terrorist Groups) में शामिल होने की आशंका है।

Coronavirus: बीते 24 घंटे में हुई कोरोना से मौतों के आंकड़े ने तोड़े रिकॉर्ड, देखें लेटेस्ट अपडेट

हालांकि, आतंकी भर्ती की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है, इसलिए पुलिस ने आधिकारिक आंकड़ों में इन्हें शामिल नहीं किया है। सूत्रों के अनुसार, इस साल करीब 40 लोग ऐसे हैं जो आतंकी समूहों, खासकर लश्कर-ए-तैयबा और अल-बद्र में शामिल हुए हैं।

वहीं, करीब 50 अन्य अब भी लापता हैं। इस बीच, कश्मीर में सक्रिय रहे पाकिस्तान प्रायोजित आतंकी संगठनों की तरफ से अलग-अलग नामों वाले कई नए आतंकी समूह (Terrorist Groups) सामने आए हैं।

ये भी देखें-

ये संगठन युवाओं को बरगलाकर उन्हें आतंकवाद की राह पर ले जाने का काम कर रहे हैं। कश्मीर में युवाओं का इस तरह आतंकी संगठनों में भर्ती चिंता का विषय है। हालांकि, पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां इस पर कड़ी नजर रख रही हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें