India China Border

सरकार ने पूर्वी लद्दाख में भारत की अभियानगत तैयारियों (Operational Preparation) सहित क्षेत्र में संपूर्ण स्थिति की व्यापक समीक्षा की। चीनी सेना के लगातार आक्रामक रुख अपनाए रखने और क्षेत्र में भारतीय सैनिकों को फिर से डराने की कोशिश किए जाने के मद्देनजर यह बैठक की गई।

अमेरिका के जस्टिस डिपार्टमेंट ने इन चीनी नागरिकों (Chinese hackers) के साइबर हमलों (Cyber Attack)और कंप्यूटर में सेंधमारी की कोशिशों को नाकाम बनाने के लिए हर उपलब्ध तकनीक का इस्तेमाल किया

कनाडा की सैन्य मैगजीन कन्वा डिफेंस रिव्यू ने सैटलाइट तस्वीरों की मदद से बताया कि चीनी सैनिक (PLA Troops) पैंगोंग झील के आसपास बड़े पैमाने पर तैनात हैं।

भारत और चीन (India-China) के बीच चल रहे तनाव को कम करने के लिए वार्ता जारी है। इसके बाद भी LAC पर तनाव कम नहीं हो रहा है। हालात ये हैं कि दोनों देशों के बीच पिछले 20 दिनों में कम से कम तीन बार गोलियां चल चुकी हैं।

भारत और चीन (India-China) के बीच सीमा पर तनाव को कम करने के लिए पांच बिंदुओं पर सहमति बनी है। इस बात की जानकारी 11 सितंबर को विदेश मंत्रालय ने दी।

भारतीय सेना (Indian Army) चीन की तैनाती पर करीबी नजर रखने की स्थिति में आ गई है। एलएसी पर चीन के करीब 50 हजार जवान तैनात हैं जिससे निपटने के लिए भारत ने भी मिरर-डिप्लॉयमेंट की है।

चीन की उकसावे भरी कार्रवाई के बाद भारतीय सेना (Indian Army) ने अपने ऑन ग्राउंड ऑफिसर्स को सख्त निर्देश दिया है कि किसी भी हालत में चीनी सैनिकों को LAC का उल्लंघन नहीं करने दें।

सीमा से मिली तस्वीरों से साफ है कि चीनी सेना (PLA Troops) पूरी तैयारी के साथ घुसपैठ के लिए आई थी। वह अपने साथ बंदूकों के अलावा डंडे लेकर आए थे। डंडों पर खुखरी बंधी हुई थी।

चीन के सैनिकों की तैनाती बढ़ाने से दक्षिणी किनारे पर तनाव काफी बढ़ गया है। चीन की इस ताजा कार्रवाई का जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने भी अपनी तैनाती को बढ़ा दिया है।

चीनी ने कहा गया है कि वो अपनी एक इंच जमीन भी नहीं छोड़ सकता है। चीन (China) की सशस्त्र सेना अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करने में पूरी तरह से प्रतिबद्ध, सक्षम और आश्वस्त है।

नायब सूबेदार शमशेर अली खान (Shamsher Ali Khan) अरुणाचल प्रदेश के टेंगा में तैनात थे और 24 ग्रेनेडियर यूनिट के नायब सूबेदार थे।

कूटनीतिक मोर्चे पर भारत ने चीन (China) को पूरी दुनिया में अलग–थलग कर दिया है। अमेरिका‚ रूस‚ जापान‚ जर्मनी‚ फ्रांस‚ इस्राइल‚ दक्षिण कोरिया जैसे रणनीतिक साझेदारों के साथ लगातार बातचीत जारी है

मंत्रालय की जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि उसे इन मोबाइल ऐप (Chinese Apps) के गलत इस्तेमाल की शिकायत मिल रही थी। ये उपभोक्ताओं का डाटा चुराकर अवैध रूप से देश के बाहर भेज रहे थे।

चीन (China) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। बीते 15 जून को हुई झड़प के बाद एक तरफ चीन जहां पर शांति और बातचीत से विवाद सुलझाने की बात करता है तो दूसरी ओर चीनी सेना लद्दाख पर नजरें गड़ाए बैठी है।

चीन का ये मिसाइल परीक्षण अमेरिकी विमानवाहकों को निशाना बनाने के लिए विकसित किया गया है जो चीन (China) के साथ संभावित संघर्ष में शामिल हो सकते हैं।

नया एयर डिफेंस कमांड (Air Defence Command) थल सेना, वायु सेना और नौसेना के एयर डिफेंस सेटअप का साझा रूप होगा। इसमें इन तीनों सेनाओं की खूबियां शामिल होंगी। इससे पूरे देश के एयर स्पेस को और मजबूत सुरक्षा दी जाएगी।

India China Border Clash: चीनी सैनिक पैंगोंग त्सो झील के पास फिंगर-5 के आसपास हैं और फिंगर 5 से फिंगर 8 तक पांच किलोमीटर से अधिक के इलाकों में ड्रैगन ने बड़ी संख्या में सैनिकों और उपकरणों को तैनात किया है।