Farmers Protest

संगठन के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि हम आज के भारत बंद में शामिल नहीं हो रहे हैं। दिल्ली और देश के अन्य हिस्सों में बाजार खुले रहेंगे।

दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया कि दिशा रवि (Disha Ravi) ने व्हाट्सऐप पर हुई बातचीत‚ ईमेल और अन्य साक्ष्य मिटा दिये और वह इस बात से अवगत थी कि उसे किस तरह की कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है।

गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा की जांच के दौरान दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने 'टूलकिट' (Toolkit) शब्द का जिक्र किया।

दिल्ली पुलिस ने टूलकिट मामले (Toolkit Conspiracy) की छानबीन के दौरान नए-नए खुलासे किये हैं। इसी के तहत आईएसआई एजेंट भजन सिंह भिंडर उर्फ इकबाल चौधरी और पीटर फ्रेडरिक के नाम भी सामने आए हैं।

सरकार ने किसान यूनियनों को नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के अमल पर 18 महीने तक रोक लगाने और उनकी मांगों से संबंधित मसलों का समाधान तलाशने के लिए एक कमेटी बनाने का प्रस्ताव दिया है।

दीप सिद्धू (Deep Sidhu) को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 9 फरवरी को गिरफ्तार कर लिया। दीप सिद्धू 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान लालकिले (Red Fort) पर हुई हिंसा मामले के मुख्य आरोपी में से एक है।

कृषि कानूनों (Farm Laws 2020) के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर पिछले दो महीने से अधिक समय से किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी है। आंदोलन को और तेज करने के लिए किसान संगठनों ने आज देशव्यापी चक्का जाम (Chakka Jam) का ऐलान किया है।

साल 1985 में राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) दिल्ली पुलिस में एसआई यानी सब इंस्पेक्टर के तौर पर भर्ती हो गए थे। इसी दौरान 90 के दशक में दिल्ली के लाल किले पर  महेंद्र सिंह टिकैत के नेतृत्व में किसानों का आंदोलन चल रहा था।

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने 26 जनवरी को लाल किले (Red Fort) पर हुई हिंसा के ममाले में दर्ज प्राथमिकी में अभिनेता दीप सिद्धू (Deep Sidhu) और 'गैंगस्टर' से सामाजिक कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना के नाम लिए हैं।

गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन किसानों के ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) के दौरान लाल किले (Red Fort) पर प्रदर्शनकारियों द्वारा एक धार्मिक झंडा फहराए जाने को लेकर विवाद हो गया।

आइटीओ पर गाजीपुर और सिंघु बॉर्डर से आए किसानों के एक बड़े ग्रुप ने लुटियन जोन की तरफ जाने का प्रयास किया। इस दौरान जब पुलिस (Delhi Police) ने उन्हें रोका तो किसानों हिंसक हो गये और बैरिकेडिंग तोड़ कर वहां मौजूद पुलिसवालोंं को कुचलने की कोशिश की।

कृषि कानूनों (Farm Laws 2020) के खिलाफ किसानों का विरोध-प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी है। गणतंत्र दिवस (Republic Day) के अवसर पर आज प्रदर्शनकारी किसानों के द्वारा ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) भी निकाली जा रही है।

किसान आंदोलन (Farmers Protest) का समाधान निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा गठित की गई चार सदस्‍यीय कमेटी में शामिल भूपिंदर सिंह मान (Bhupinder Singh Mann) ने इस समिति से खुद का नाम वापस लेने का फैसला लिया है।

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने तीनों कृषि कानूनों (Farm Laws 2020) पर अगले आदेश तक रोक लगा दिया है और एक कमेटी का गठन करने का आदेश दिया है।

farmers protest: केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए तीनों कृषि कानूनों पर रोक लग गई है। सुप्रीम कोर्ट ने इन कानूनों के लागू होने पर रोक लगाई है।

कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब और हरियाणा सहित देश के कई राज्यों के किसान (Farmers) दिल्ली की बाहरी सीमाओं पर एक महीने से अधिक समय से धरनो पर बैठे हैं।

किसानों (Farmers) के तेवर भी कुछ नरम दिखाई दिए उन्होंने अपनी ट्रैक्टर रैली को फिलहाल वापस ले लिया है। किसान नेताओं ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि वह अगली बैठक में कृषि कानून रदद कराने और एमएसपी का कानून लेने में सफल हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें