भारत के खिलाफ बड़ी साजिश है टूलकिट, ISI की फंडिंग की हो रही जांच!

दिल्ली पुलिस ने टूलकिट मामले (Toolkit Conspiracy) की छानबीन के दौरान नए-नए खुलासे किये हैं। इसी के तहत आईएसआई एजेंट भजन सिंह भिंडर उर्फ इकबाल चौधरी और पीटर फ्रेडरिक के नाम भी सामने आए हैं।

Toolkit Conspiracy

Delhi Police Alleges 'Disha, Nikita Jacob & Shantanu Created Toolkit Conspiracy

भारत में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 84 दिनों से जारी किसान आंदोलन की आड़ में तमाम देश विरोधी ताकतें संलिप्त हैं। दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के हालिया खुलासे से ये बात निकल कर सामने आई है कि किसानों के समर्थन में विदेशी हस्तियों द्वारा सोशल साइट्स पर की गई टिप्पणी के पीछे पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई और प्रतिबंधित संगठन खालिस्तान का हाथ हो सकता है। इसके लिए ऑनलाइन प्रचलित टूलकिट (Toolkit) का सहारा लिया गया है।

Jammu: अनुच्छेद 370 हटने के बाद जड़ें मजबूत करने की कोशिश में आतंकी, स्लीपर सेल को किया एक्टिव

दिल्ली पुलिस ने टूलकिट मामले (Toolkit Conspiracy) की छानबीन के दौरान नए-नए खुलासे किये हैं। इसी के तहत आईएसआई एजेंट भजन सिंह भिंडर उर्फ इकबाल चौधरी और पीटर फ्रेडरिक के नाम भी सामने आए हैं। पुलिस (Delhi Police) का इस टूलकिट लिस्ट में इन दोनों के नाम मिल गये हैं। इसीलिये पुलिस ने ये आशंका जाहिर की है कि किसान आंदोलन को भड़काने के लिए आईएसआई (ISI) की फंडिंग हो सकती है। दिल्ली पुलिस अपने संदेह को सच साबित करने के लिए साइबर सेल के साथ मिलकर इस मामले में अपनी जांच को तेज कर दिया है।

वहीं दूसरी तरफ पुलिस (Delhi Police) अधिकारियों के अनुसार, आंदोलन के दौरान देश विरोध गतिविधियों के पीछे आईएसआई के हाथ होने का खुलासा टूलकिट (Toolkit Conspiracy) में शामिल निकिता और शांतनु की गिरफ्तारी के बाद ही हो पाएगा। टूलकिट में ट्विटर के जरिये किसी अभियान को तेज कराने के लिए जरूरी गाईडलाइंस और सामग्री मुहैया कराई जाती है।

दरअसल, टूलकिट (Toolkit Conspiracy) में कब क्या होना है, आगे इस पर कैसे काम करना है और किस-किस को भेजना है, इस पर 11 जनवरी को हुये गूगल जूम मीटिंग में तय कर लिया गया था। जिसमें एमओ धालीवाल, दिशा, निकिता, शांतनु के अलावा करीब 70 लोग शामिल थे। पुलिस अब उस ऑनलाइन मीटिंग में शामिल सभी लोगों की जानकारी जुटाने में लग गई है और जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App