Farmers Tractor Parade: कहीं फूलों से हुआ स्वागत तो कहीं पुलिस को छोड़ने पड़े आंसू गैस के गोले, जानें किसानों की ट्रैक्टर परेड का हाल

कृषि कानूनों (Farm Laws 2020) के खिलाफ किसानों का विरोध-प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी है। गणतंत्र दिवस (Republic Day) के अवसर पर आज प्रदर्शनकारी किसानों के द्वारा ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) भी निकाली जा रही है।

Farmers Tractor Parade and Delhi Police

Farmers Tractor Parade

दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर जब किसानों ने ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) की शुरुआत की तो उनका स्वागत फूलों के साथ किया गया। जगह-जगह लोग फूल लेकर खड़े थे और किसानों का स्वागत कर रहे थे। 

कृषि कानूनों (Farm Laws 2020) के खिलाफ किसानों का विरोध-प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी है। गणतंत्र दिवस (Republic Day) के अवसर पर आज प्रदर्शनकारी किसानों के द्वारा ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) भी निकाली जा रही है। इस दौरान दिल्ली पुलिस द्वारा तय समय से पहले ही किसान दिल्ली में घुस गए। कई जगहों पर किसानों के द्वारा बैरिकेड्स तोड़ दिए गए।

इतना ही नहीं कई तस्वीरों में प्रदर्शनकारी किसान पुलिस की गाड़ियों के ऊपर चढ़े हुए दिख रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने किसानों को दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक का वक्त दिया था। लेकिन हजारों की संख्या में ट्रैक्टर पहले ही दिल्ली में घुसने की कोशिश करने लगे। यहां ही पुलिसकर्मियों और किसानों के बीच बहस भी देखने को मिली।

Republic Day Parade 2021: टी-90 भीष्म टैंकों और घातक मिसाइलों ने बढ़ाई गणतंत्र दिवस परेड की शान, देखें PHOTOS

किसानों ने सिंघु, टिकरी और लोनी बॉर्डर पर पुलिस बैरिकेड्स तोड़े और दिल्ली की सीमा में प्रवेश कर गए। हालांकि, भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया, “हमें एक रूट दिया गया है हम उसी रूट से जा रहे हैं। आंदोलन खत्म नहीं होगा। नियमों का पूरा पालन किया जाएगा।”

संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस का इस्तेमाल किया। सिंघू बॉर्डर से किसानों की ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) यहां पहुंची थी।

Republic Day Parade 2021: बांग्लादेश का मार्चिंग दस्ता और बैंड रहा आकर्षण का केंद्र, पढ़ें परेड का पूरा ब्योरा

वहीं, सिंघु बॉर्डर से किसान मजदूर संघर्ष समिति के अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू ने कहा है कि हम शांतिपूर्ण तरीके से जाएंगे और वापस आ जाएंगे। हमें रिंग रोड पर जाना है लेकिन पुलिस रोक रही है। लोग आ रहे हैं उसके बाद हम इस पर विचार करेंगे। 30-45 मिनट का समय दिया गया है तब तक हम यहीं बैठेंगे और फैसला करेंगे।

दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर जब किसानों ने ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) की शुरुआत की तो उनका स्वागत फूलों के साथ किया गया। जगह-जगह लोग फूल लेकर खड़े थे और किसानों का स्वागत कर रहे थे। 

Republic Day 2021: राजपथ पर कैप्टन प्रीति चौधरी ने संभाली शिल्का एंटी-एयरक्राफ्ट वेपन सिस्टम की कमान

दिल्ली के मुकरबा चौक पर लगाए गए बैरिकेड और सीमेंट के अवरोधकों को ट्रैक्टरों से तोड़ने की कोशिश कर रहे किसानों के समूह पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। राष्ट्रीय राजधानी के सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के कुछ समूह 26 जनवरी की सुबह दिल्ली पुलिस द्वारा ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित किए गए समय से पहले अवरोधकों को तोड़कर दिल्ली में दाखिल हो गए थे।

अधिकारी ने बताया कि पुलिस कर्मियों ने सिंघू बॉर्डर पर किसानों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। वे तय समय से पहले आउटर रिंग रोड की ओर मार्च करने की कोशिश कर रहे थे। दिल्ली पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए बॉर्डर पर बड़े-बड़े कंटेनर लगाए थे। गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने ऐसे ही कंटेनर को किनारे किया और दिल्ली की ओर कूच कर दिया। दिल्ली पुलिस की तमाम कोशिशें किसानों को रोकने में नाकाम रहीं

Republic Day 2021: लद्दाख और जम्मू कश्मीर में कड़कड़ाती ठंड के बीच जवानों ने मनाया गणतंत्र दिवस, देखें PHOTOS

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर बड़ी संख्या में किसान ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली की ओर घुसने की कोशिश कर रहे थे, तब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की। वहीं, सुरक्षा कर्मी किसानों को समझाने की कोशिश कर रहे थे कि वे राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड खत्म होने के बाद तय समय पर परेड ट्रैक्टर परेड (Farmers Tractor Parade) निकालें।

लाल किले के पास पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए बैरिकेड लगाए हुए थे। लेकिन जो किसान सीमा से लेकर यहां तक आ गए, उनके सामने ये बैरिकेड भी नहीं टिके। प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड को तोड़ लालकिले का रुख किया। एक ओर जहां आईटीओ पर अभी भी पुलिस और किसानों के बीच संघर्ष हुआ। वहीं दूसरी ओर किसान लाल किले तक पहुंच गए।

ये भी देखें-

राष्ट्रीय राजधानी के सीमा बिंदुओं पर ट्रैक्टरों का जमावड़ा दिखाई दिया जिन पर झंडे लगे हुए थे और इनमें सवार पुरुष व महिलाएं ढोल की थाप पर नाच रहे थे। सड़क के दोनों ओर खड़े स्थानीय लोग फूलों की बारिश भी कर रहे थे। 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App