China

चीनी (China) अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारत ने जो 2290 करोड़ रुपए का अमेरिका से हथियार खरीदने का फैसला किया है, वह उसे सीमा पर बढ़त नहीं दिला सकता है।

India China Faceoff: भारत-चीन के बीच विवाद जारी है। हालही में LAC पर चीन ने घुसपैठ की कोशिश भी की थी, ऐसे में भारतीय सैनिकों ने चीन को माकूल जवाब दिया था।

भारत का स्टैंड साफ है कि हम ए टू जेड पूरे पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) की बात कर रहे हैं। मई में चीन  (China) ने पैंगोंग इलाके में घुसपैठ की कोशिश की थी लेकिन देपसांग की दिक्कत उससे काफी पहले की है।

बीते कुछ महीनों से चीन (China) LAC पर चालबाजी दिखा रहा है। 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प की खबर सबको है। उसके बाद भी कई बार LAC पर फायरिंग की घटनाएं हुईं।

चीन का अमानवीय चेहरा सामने आ गया है। दरअसल, चीन ने अपने डिटेंशन कैंप्स में शिनजियांग प्रांत के 80 लाख उइगुर मुसलमानों (Uyghur Muslims) को कैद कर के रखा है।

चीन (China) की हिमाकत बढ़ती ही जा रही है। भारत के साथ सीमा विवाद के बाद चीन अब नेपाल (Nepal) की जमीन पर भी धीरे-धीरे कब्जा करता जा रहा है। मामला नेपाल के हुम्ला जिले का है।

चीन (China) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। भारत के बाद चीन ने अब ताइवान (Taiwan) के साथ पंगा लेना शुरू कर दिया है। अमेरिका और ताइवान की बढ़ती दोस्ती से चीन को चिढ़ होने लगी है इसलिए चीन ने ताइवान पर कब्जा कर लेने की धमकी दी है।

India China Clash: चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने बुधवार को कहा कि भारत अपनी गलत चीजों को फौरन ठीक करे।

चीन (China) अब अरुणाचल प्रदेश में LAC पर अपने सैनिकों के लिए ठिकाने बना रहा है। भारतीय सेना ने इस गतिविधि को नोटिस किया है, जिसके बाद वह चौंकन्नी हो गई है।

राजनाथ ने बताया, चीन (China) ने एलएसी पर बड़ी संख्या में सैनिक टुकड़ियां और गोला बारूद जमा किया है। भारतीय सेना ने भी अपनी तैनाती को बढ़ा दिया है।

चीन की दादागिरी के खिलाफ भारतीय सेना (Indian Army) जबरदस्त जवाबी कार्रवाई की है। इसके बाद से अमेरिकी मीडिया में भी भारत की प्रशंसा हो रही है।

ये पांचों भारतीय नागरिक अरुणाचल प्रदेश के उपरी सुवानसिरी में राह भटक कर चीन (China) की सीमा में चले गए थे। चीनी सैनिकों ने उन्हें भारत को सौंप दिया।

भारत चीन सीमा विवाद के बीच अब चीन (China) का दोमुंहा रूप सामने आया है। आतंकवाद (Terrorism) के मुद्दे पर वह अब पाकिस्तान (Pakistan) का बचाव करता नजर आ रहा है।

भारत (India) और जापान (Japan) ने ऐसा समझौता किया है जिसकी वजह से चीन (China) कोई भी हरकत करने से पहले सौ बार सोचेगा। चीन से मौजूदा टकराव के बीच हुई इस डील से हिंद महासागर में चीन की घेराबंदी को तोड़ा जा सकता है या रोका जा सकता है।

चीन (China) के अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स (Global Times) ने भारत को गीदड़ भभकी दी है। चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स भारत लगातार अपनी सरकार का प्रोपेगैंडा फैला रहा है। ग्लोबल टाइम्स ने 8 सितंबर को एक आर्टिकल छापा है।

इस बार चीन की हरकत को देखते हुए भारत, तिब्बत मुद्दे पर आक्रामक रुख अपनाता दिख रहा है। भारत ने 7 सितंबर को चीन (China) को सख्त संदेश दिया कि भारत किसी दबाव में झुकने वाला नहीं है बल्कि ईंट का जवाब पत्थर से देगा।

लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव लगातार बढ़ रहा है। 7 सितंबर की फायरिंग की घटना के बाद एक बार फिर चीन (China) की सेना ने कायराना हरकत की। पैंगोंग के पास रेजांग ला में चीनी सैनिकों ने फिर से घुसपैठ की कोशिश की।

यह भी पढ़ें