सीआईएसएफ (CISF) के डीआईजी विनय काजला के नेतृत्व में हर रोज सीआईएसएफ के जवान धनबाद के एसएनएमएमसीएच पहुंचकर प्लाज्मा डोनेट कर रहे हैं।

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच खबर मिली है कि खुफिया जानकारी के आधार पर 2 उग्रवादियों को गिरफ्तार किया गया है।

ये नक्सली (Naxalites) एमसीसी, टीपीसी, पीएलएफआई और जेजेएमपी से संबंधित हैं। इन्हें गिरफ्तार करने के लिए विशेष रणनीति और कार्रवाई की तैयारी की जा चुकी है।

गनीमत ये रही कि इस दौरान ग्रामीणों ने हिम्मत दिखाई और हमला करने वाले नक्सलियों (Naxalites) में से एक को पकड़ लिया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

अब NIA ने खुलासा किया है कि इन नक्सलियों ने एक हफ्ते पहले भालू जंघा के जंगल में ये प्लानिंग की थी और 3 नक्सलियों ( Naxalites) की टीमों को इस काम में लगाया गया था।

झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच खबर मिली है कि खूंटी पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

झारखंड में सरकार ने नक्सलियों का सफाया करने के लिए पूरी तरह कमर कस ली है। अब राज्य सरकार के निर्देश पर स्थानीय प्रशासन द्वारा नक्सलियों के खिलाफ देशद्रोह का मामला चलेगा।

JJMP: ये गिरफ्तारी नावाडीह-धमधमियां सड़क पर खलारी के प्रभारी डीएसपी रजत मणिक बाखला के नेतृत्व में गठित टीम ने की।

झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है। हालांकि फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

पुलिस को जैसे ही इस बात की सूचना मिली तो वह फौरन मौके पर पहुंची और इन नक्सली (Naxalites) पोस्टरों और बैनरों को जब्त कर लिया।

नक्सली सिंघराई नक्सलियों की मदद किया करता था। NIA ने उसे शुक्रवार की देर शाम उसके घर से ही गिरफ्तार किया। मेडिकल जांच और कोविड जांच के बाद टीम उसे रांची ले गई है।

गिरिडीह जिले के भेलवाघाटी, देवरी, तिसरी, गांवा और बिहार के जमुई जिले के चकाई ,चरका पत्थर जैसे इलाकों को नक्सली (Naxalites) सीमांचल जोन कहते हैं।

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। ताजा मामला चतरा जिले का है। यहां पुलिस ने नक्सलियों की बड़ी साजिश को नाकाम किया है।

झारखंड (Jharkhand) के चर्चित चिलखरी नरसंहार (Chilkari Massacre) के मामले में पुलिस (Police) को एक और कामयाबी मिली है। इस हत्याकांड में शामिल एक और नक्सली (Naxalites) को गिरिडीह पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

नक्सल प्रभावित चकाई थाना के बरमोरिया पंचायत में 14 अप्रैल की देर रात नक्सिलयों के हथियारबंद दस्ते ने सड़क निर्माण में लगे जेसीबी चालक और मजदूरों के साथ मारपीट की है।

Naxalites: आज भी इस घटना को याद करके लोगों की रूह कांप जाती है। क्योंकि इससे पहले एक साथ इतने लोगों की हत्या इस क्षेत्र में नहीं हुई थी।

चिलखारी नरसंहार (Chilkari Massacre) की घटना झारखंड (Jharkhand) ही नहीं बल्कि पूरे देश में चर्चित हुई थी। इस घटना ने पूरे मानव समाज को हिला कर रख दिया था।

यह भी पढ़ें