इरादा अगर पक्का हो तो सफलता जरूर मिलती है। इसे साबित कर दिखाया है झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह के धुर नक्सलग्रस्त गांव जरूवाडीह की बेटी मनीषा कुमारी ने।

झारखंड (Jharkhand), बंगाल (Bengal) और ओडिशा (Odisha) में कई वारदातों को अंजाम देने वाले हार्डकोर इनामी नक्सली (Naxali) सुभाष मुंडा को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है।

कश्मीर के मालबाग में आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हुए जवान कुलदीप उरांव का पार्थिव शरीर शनिवार को उनके घर पहुंचा। वो झारखंड के साहेबगंज के रहने वाले थे। कुलदीप सीआरपीएफ की 118 वीं बटालियन में तैनात थे।

शहीद के पिता ने कहा, 'मैं खुद सीआरपीएफ से रिटायर्ड हूं और मुझे अपने बेटे की शहादत पर गर्व है। वह अमर रहेगा। अगर मेरे और भी बेटे होते तो मैं उनको भी देश की सेवा में ही लगाता।'

झारखंड (Jharkhand) के रांची जिले में नक्सलियों (Naxalites) ने फिर से अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश की है। जिले के तमाड़ थाना क्षेत्र के पुंडीदीरी से बघई रोड में नक्सलियों ने कई जगह पर पोस्टरबाजी की है।

इनामी नक्सली (Naxali) अजय महतो समेत 11 माओवादियों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की तैयारी शुरू हो गई है। गिरिडीह उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने इन नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुशंसा की है।

झारखंड (Jharkhand) के कोडरमा के सतगांव में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ (Naxal Encounter) में जवानों ने एक कुख्यात इनामी नक्सली (Naxali) को मार गिराया गया है। 18 जून दोपहर करीब 2.15 बजे सीआरपीएफ (CRPF) की 22एफ बटालियन और जिला पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में जवानों को यह सफलता मिली।

भारत-चीन सीमा पर शहीद जवानों में झारखंड के जवान गणेश हांसदा भी वीरगति को प्राप्त हुए हैं। शहादत की खबर से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। शहीद गणेश हंषदा (Martyr Ganesh Hansda) के परिजनों से मिलने और सांत्वना देने के लिए उनके घर पर लोगों का तांता लगा हुआ है।

भारत-चीन के बीच हुई खूनी झड़प में झारखंड का जवान शहीद हो गया। विधि का विधान देखिए कि यह जवान 20 दिन पहले ही पिता बना था। अब तक वह अपने बच्चे का मुंह भी नहीं देख पाया था।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह जिले के पीरटांड़ थाना अंतर्गत पिपराटांड़ गांव में शनिवार (13 जून) की सुबह हार्डकोर नक्सली (Naxali) सुरेश मरांडी का सेंदरा करने एवं आठ लोगों को घर में बंद कर आग लगाने की मामले में पीरटांड़ थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह जिले में पुराने जमीनी विवाद की वजह से हुई एक हत्या का बदला नक्सली कमांडर (Naxali Commander) से गांव वालों ने ले लिया। आक्रोशित ग्रामीणों ने तीर और फरसे से हमला कर नक्सली कमांडर सुरेश मरांडी को मौत के घाट उतार दिया।

झारखंड (Jharkhand) पुलिस को नक्सलवाद (Naxalism) के खिलाफ एक अहम कामयाबी हाथ लगी है। झारखंड और बिहार में सक्रिय कुख्यात नक्सली (Naxali) अजय महतो को झारखंड की चतरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

भाकपा माओवादी के नक्सलियों द्वारा पुलिस और सुरक्षाबलों को निशाना बनाने के लिए लगाए गए 64 आइईडी (IED) बम पश्चिमी सिंहभूम जिला पुलिस और सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों द्वारा बरामद कर लिए गए हैं।

टेरर फंडिंग (Terror Funding) के मामले में झारखंड (Jharkhand) की राजधानी रांची से एनआईए (NIA) के हत्थे चढ़े कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारी मनोज चौधरी ने कई राज उगले हैं।

झारखंड (Jharkhand) के पलामू जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ (Naxal Encounter) हुई है। झारखंड (Jharkhand) के पलामू में टीपीसी (TPC) उग्रवादियों की सर्च अभियान पर निकले पुलिस और सुरक्षाबल के जवानों के साथ जबरदस्त मुठभेड़ हुई।

प्रेम और सद्भाव की इससे बड़ी मिसाल क्या हो सकती है कि कोरोना के खौफ से 72 साल की लाखिया को अपनों ने दगा दिया, पर इंसानियत में यकीन रखने वाले लोगों ने आखिरी वक्त में उसका साथ दिया। कुछ मुस्लिम युवकों ने वृद्धा की अर्थी को कंधा दिया और उसकी अंतिम यात्रा पूरी की।

नक्सली (Naxali) अनिश्चय पिछले 10-12 सालों से उग्रवादी संगठन टीएसपीसी का सक्रिय सदस्य रहा है। इसका मुख्य काम कोयलांचल क्षेत्र में कार्यरत कारोबारी और ठेकेदारों को डरा-धकमा कर लेवी वसूल करना और आगजनी-धमकी देने जैसे कई मामलों में वांटेड था। चतरा जिले के अलावा लाहतेहार और पलामू जिले में भी इसके नाम की दहशत थी।

यह भी पढ़ें