search operation

मुठभेड़ के बाद जब सुरक्षाबलों ने घटनास्थल की पड़ताल की तो उन्हें एक नक्सली का शव बरामद हुआ। जिसकी शिनाख्त पांच लाख के इनामी एरिया कमेटी मेंबर मड़कम मुइया के रूप में हुई है।

एनकाउंटर में ग्रेहाउंड का एक जवान घायल हुआ है। जवान को हेलीकाप्टर से जंगल से बाहर निकालकर वारंगल जिले के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि सुरक्षाबल के जवान घटनास्थल और आसपास के क्षेत्र की तलाशी ले रहे हैं।

2021 में जिले में हुये एक नक्सली मुठभेड़ में पांडूराम (Naxali Panduram) मुख्य आरोपी रह चुका है। छत्तीसगढ़ और तेलंगाना पुलिस को काफी लंबे समय से इस नक्सली की तलाश थी।

मारे गये नक्सलियो के पास से सुरक्षाबलों ने 12 बोर की 5 बंदूक और एक 303 राइफल मिली है। वहीं सूत्रों से ये भी सूचना मिली है कि मारे गये नक्सलियों में इनामी नक्सल कमांडर मधु के भी मारे जाने की खबर है।

इस हमले में घायल जवान को घटनास्थल से बाहर निकालकर नजदीकी अस्पताल में प्राथमिक इलाज के लिए भेज दिया गया है। साथ ही हमलावरों की तलाश में सर्च अभियान जारी है।

मारी गई महिला नक्सलियों में से एक हिड़में मलांगीर एरिया कमेटी की सदस्य थी जबकि नक्सली पोज्जे नीलावाया इलाके में सक्रिय संगठन चेतना नाट्य मंडली की सदस्य थी।  

सुरक्षाबलों ने थोउबल इलाके से पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के एक आतंकी और इंफाल के पोरोमपत थाना क्षेत्र से कंगलीपाक कम्युनिस्ट पार्टी (केसीपी) के एक आतंकी को धर दबोचा। 

छोटेडोंगर थाना क्षेत्र में डीआरजी की टीम गश्त कर रही थी। छानबीन के दौरान जब पुलिस टीम बहकेर गांव के जंगलों में घुसी ही थी तभी पहाड़ी पर छिपे नक्सलियों (Naxalites) ने पुलिसकर्मियों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।

सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के पास से बड़ी संख्या में हथियार और गोलाबारुद भी जब्त किया है। जिनमें 35 डेटोनेटर, 6 जिलेटिन की छड़ें, 2 आईईडी, बैटरियां, तार और अन्य सामग्रियां हैं।

सभी नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ आस-पास के थानों में कई मामले दर्ज हैं। ये वर्षों से नक्सल संगठन में सक्रिय थे और हत्या की कोशिश, सड़क तोड़ना, फिरौती, पुलिस टीम पर हमला और पोस्टर-बैनर चस्पा करने जैसे कई अपराधों में शामिल थे।

मुठभेड़ के बाद घटनास्थल की छानबीन के दौरान डीआरजी के जवानों ने एक 12 बोर की बंदूक, दो देसी रिवाल्वर, एक मज्जल लोडिंग गन, दो आईईडी, तार, दवाएं, माओवादी साहित्य और अन्य दैनिक इस्तेमाल की वस्तुएं बरामद की हैं।

गिरफ्तार नक्सली मरकाम (Naxali Markam) पर छत्तीसगढ़ सरकार ने एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। गिरफ्तार नक्सली बुर्कापाल की घटना में शामिल था, जिसमें 25 जवान शहीद हुए थे।

पिछले कुछ महीनों से नक्सलियों के द्वारा सुरक्षाबलों को टारगेट करने के लिए गोरिल्ला तकनीक से हमला करने की घटनायें बढ़ी हैं। नक्सली आमने-सामने की लड़ाई को छोड़कर सुरक्षाबलों पर छिप कर वार कर रहे हैं।

गुप्त सूत्रों से जानकारी मिली थी कि तुलसी संरक्षित जंगल में करीब 30 से 40 नक्सली मौजूद थे, जिसमें करीब 5 नक्सल कैडर थे। ये नक्सली पिछले दो दिन से यहीं शिविर डालकर रह रहे थे।

पुलिस अधिकारी के ने आगे बताया कि इस दुर्घटना में घायल आठ पुलिसकर्मियों (Policemen) को मामूली चोट आई है और वहीं गंभीर रूप से घायल चार पुलिसकर्मियों का इलाज जिला अस्पताल में किया जा रहा है।

नैमेड और मिरतूर थाना क्षेत्र में सुरक्षाबलों ने पांच नक्सलियों कमलू ओयाम (23), मनीष कलमूम (26), गुड्डु हेमला (30), बिज्जा उर्फ बीजा कड़ती (47) और मुड़ा (47) को गिरफ्तार किया है।

जवानों की अलग-अलग टीम को एरिया डोमिनेशन के लिए बड़ेसेट्‌टी कैंप से पालोड़ीपारा, दुरमापारा, गंधारपारा, बुधरापारा व कंगोड़ीपारा की तरफ रवाना किया गया था। इसी दौरान इन्हें बड़ी सफलता हाथ लगी है।

यह भी पढ़ें