Chhattisgarh Naxal

दंतेवाड़ा में पुलिस के सामने 7 ऐसे लोगों ने सरेंडर किया है जो अपनी पहचान छिपा कर नक्सलियों की मदद किया करते थे। खास बात यह भी है कि यह सभी लोग गांव वालों के साथ मिलजुल कर रहते थे लेकिन किसी को उनकी करतूतों का पता तक नहीं चलता था।

हार्डकोर नक्सली कमांडर डेविड एएसआई नरबद बोगा की हत्या में भी शामिल था। इसके खिलाफ पुलिस की टीम पर हमला और हत्या जैसे दर्जनों मामले दर्ज हैं।

प्रदेश के नारायणपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने आज यहां बताया कि जिले के बुरगुम गांव के जंगल में नक्सलियों (Naxals) के साथ मुठभेड़ के दौरान डीआरजी का जवान घायल हो गया है।

दो साल पहले पुलिस पार्टी पर फायरिंग करने के आरोपी नक्सली मड़कामी सुकड़ा को छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की सुकमा पुलिस ने कुन्ना के पास डब्बा पहाड़ी से गिरफ्तार कर लिया है।

आए दिन सुरक्षाबल के जवान आम जनता की मदद कर मानवता की मिसाल कायम करते हैं। हर बार यह साबित करते हैं कि सुरक्षा के साथ-साथ जरूरतमंद लोगों की मदद करने की जिम्मेदारी भी वे बखूबी निभा सकते हैं।

सरकार ने लाल आतंक से जूझ रहे छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में साल 2019 में नक्सली हिंसा की घटनाओं में कमी होने की बात कही है। राज्य सभा (Rajya Sabha) में पेश एक आंकड़े के मुताबिक साल 2019 में जनवरी से 15 नवंबर तक नक्सलियों ने 231 बार हमला किया है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा (Dantewada) में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता हाथ लगी है। मिच्चीपारा के पास नहाड़ी-ककाड़ी के जंगलों में हुई मुठभेड़ में तीन वर्दीधारी नक्सली गिरफ्तार किए गए।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले के नीलावाया गांव की सड़क को नक्सलियों ने करीब 17 जगहों पर काट दिया था। नक्सलियों ने सड़क पर 3 से 4 फीट के बड़े-बड़े गड्‌ढे़ कर दिए थे।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर (Bijapur) जिले में नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट (IED Blast) किया। इस ब्लास्ट में सीआरपीएफ (CRPF) का एक जवान घायल हो गया।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में सुरक्षाबल के जवानों को एक सफलता हाथ लगी है। जवानों ने एक नक्सली को गिरफ्तार किया है। जवानों ने देर रात घेराबन्दी कर मलांगीर एरिया में सक्रिय नक्सली को गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर में पुलिस को एक बड़ी कामयाबी मिलने का खबर है। पुलिस के मुताबिक, आठ लाख रुपये के इनामी एक नक्सली कमांडर ने सरेंडर किया है।

नक्सलियों ने इस पत्र में सांसद संतोष पांडेय को धमकी देते हुए लिखा है कि आप आदिवासियों से दूर रहें वरना आपकी हत्या कर दी जाएगी। विकास की बात आप शहरों में जाकर करें।

यह भी पढ़ें