राजनांदगांव: 29 लाख का इनामी नक्सली डेविड गिरफ्तार, एएसआई की हत्या में था शामिल

हार्डकोर नक्सली कमांडर डेविड एएसआई नरबद बोगा की हत्या में भी शामिल था। इसके खिलाफ पुलिस की टीम पर हमला और हत्या जैसे दर्जनों मामले दर्ज हैं।

Naxals Encounter In Chhattisgarh

29 लाख का इनामी नक्सली गिरफ्तार।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव जिले में सुरक्षाबलों को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी लगी है। 1 जुलाई को यहां जवानों ने 29 लाख के इनामी नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार कर लिया। जिले के छुरिया ब्लॉक के जोब चौकी से लगे कटेंगा जंगल से पुलिस और आईटीबीपी के जवानों ने नक्सली कमांडर (Naxali Commander) डेविड उर्फ उमेश को गिरफ्तार कर लिया है।

29 लाख का इनामी है डेविड: गिरफ्तार नक्सली डेविड पर तीन अलग-अलग राज्यों में कुल 29 लाख रुपये का इनाम घोषित है। उस पर मध्यप्रदेश में 5 लाख, महाराष्ट्र में 16 लाख और छत्तीसगढ़ में 8 लाख रूपए यानी कुल 29 लाख रुपये का इनाम घोषित है।

जंगलों में छिपकर बैठा था नक्सली: दरअसल, 30 जून की रात हुई मुठभेड़ के दौरान उसकी कमर में गोली लगी थी। रात के अंधेरे में वह जंगल में छिपा था। सुबह फोर्स ने जब सर्चिंग शुरू की तो उन्हें देखकर वह भागने लगा। जिसके बाद जवानों ने दौड़ाकर उसे दबोच लिया।एसपी जितेंद्र शुक्ल ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की है। फिलहाल, उसे जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।

30 जून को हुई थी मुठभेड़: एसपी जितेंद्र शुक्ला के मुताबिक, 30 जून की रात पुलिस और आइटीबीपी की संयुक्त टीम नक्सलियों के क्रॉसिंग पॉइंट पर सर्चिंग पर निकली थी। जोबा चौकी से सटे कटेंगा जंगल में रात करीब 11 बजे नक्सलियों ने सर्चिंग टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। नक्सलियों की संख्या 10 से 12 बताई जा रही है। सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच लगभग 15 से 20 मिनट मुठभेड़ चली। इस मुठभेड़ में नक्सली सुरक्षाबलों के आगे टिक नहीं पाए और अंधेरे की आड़ लेकर जंगल में भाग निकले। सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम घटनास्थल की घेराबंदी कर सुबह तक बैठी रही।

जवानों ने दौड़ाकर धर दबोचा: 1 जुलाई की सुबह एएसपी गोरखनाथ बघेल और डीआरजी की टीम घटनास्थल पर पहुंची और तलाशी ली। एक स्थान पर खून का निशान मिला जिसका पीछा करते हुए सुरक्षाबलों की टीम खोभा ग्राम पहुंची। वहां एक नक्सली (Naxali) वर्दी में था और उसकी कमर में गोली लागी थी। सुरक्षाबलों को देखते ही वह भागने लगा। जिसके बाद जवानों ने भाग रहे नक्सली को दौड़ाकर धर दबोचा। उसके पास से एके 47, तीन मैग्जिन, 54 कारतूस व एक पिस्टल के साथ 13 कारतूस सहित एक वाकीटाकी, मेडिकल सामान व 772 रुपये नगद बरामद किए गए हैं।

एएसआई की हत्या में था शामिल: बता दें कि हार्डकोर नक्सली कमांडर डेविड एएसआई नरबद बोगा की हत्या में भी शामिल था। इसके खिलाफ पुलिस की टीम पर हमला और हत्या जैसे दर्जनों मामले दर्ज हैं। गिरफ्तार नक्सली डेविड के पास से एक एके 47, तीन मैग्जीन, 54 कारतूस, एक पिस्टल, एक वकीटाकी, मेडिकल किट, 772 रुपये और पिस्टल के 13 कारतूस बरामद हुए हैं।

यह भी पढ़ें