IAF

राफेल विमान 7000 किलोमीटर का सफर तय कर बुधवार को हरियाणा के अंबाला एयरबेस पर पहुंचे।

भारत-चीन सीमा के पास भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के अपाचे लड़ाकू हेलिकॉप्टर (Apache Attack Helicopters) ने फॉरवर्ड एयरबेस पर नाइट ऑपरेशन संचालित किया। यहां देर रात अपाचे, चिनूक समेत वायुसेना के कई विमान उड़ान भरते हुए दिखे और चीन पर पैनी नजर रखते रहे।

हिन्‍दुस्‍तान एरोनॉटिक्‍स लिमिटेड (HAL) भारतीय वायुसेना (IAF) के लिए 83 सिंग्ल ईंजन वाले तेजस फाइटर प्लेन (Tejas Fighter Plane) तैयार करेगी। स्वदेशी सैन्य विमानन क्षेत्र की इस सबसे बड़ी डील को अंतिम रूप दे दिया गया है।

Air Force Day: बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान का F-16 विमान गिराने वाले वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने वायुसेना दिवस (Air Force Day) के मौके पर एक बार फिर Mig लड़ाकू विमान में उड़ान भरी।

एयर फोर्स डे की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने बताया कि पिछले एक साल में भारतीय वायु सेना ने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं।

सरकार ने एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया को वायुसेना का नया प्रमुख घोषित किया है। वर्तमान में आरकेएस भदौरिया वाइस चीफ ऑफ द एयर स्टाफ हैं।

60 फुट ऊंचे और 50 फुट चौड़े अपाचे हेलिकॉप्टर को उड़ाने के लिए 2 पायलट की जरूरत होती है। अपाचे लड़ाकू हेलिकॉप्टर लगभग 280 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से उड़ान भरता है। इसकी सबसे खास बात यह है कि इस हेलिकॉप्टर को रडार आसानी से पकड़ नहीं पाता है।

युसेना प्रमुख बीएस धनोआ भी मिग-21 के पायलट रहे हैं। उन्होंने 1999 में कारगिल युद्ध के वक्त वायुसेना की 17वीं स्क्वाड्रन की कमान संभालने के दौरान मिग-21 विमान को उड़ाया था।

भारतीय वायुसेना की ओर से पाकिस्तानी सेना के एफ-16 विमान को नष्ट कर दिया गया था। पर झूठ बोलने वाली अपनी आदतों से मजबूर पाकिस्तान दुनिया के सामने ये स्वीकार करने को तैयार नहीं हुआ। लेकिन झूठ को तो एक दिन बेनकाब होना ही था। चारों तरफ से सबूतों से घिरता देख पाकिस्तान अब ये कहने लगा है कि उसने एफ-16 विमान का इस्तेमाल किया था।

इंडियन एयरफोर्स (IAF) के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की डी-ब्रिफिंग पूरी हो गई है। इसके बाद उन्‍हें चार हफ्तों की सिक-लीव पर भेजा गया है। पाकिस्तान के लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराने वाले भारत के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान चार हफ्ते की छुट्टियों पर श्रीनगर पहुंच गए हैं।

सीएच-47एफ (आई) चिनूक एडवांस्ड टेक्नोलॉजी से लैस हेलिकॉप्टर है जो भारतीय सशस्त्र बलों को युद्ध और मानवीय मिशन के दौरान रणनीतिक एयरलिफ्ट की क्षमता मुहैया कराएगा।

स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ नेगी जो वायु सेना में गोल्डन-ब्वॉय के नाम से जाने जाते थे। 1 मार्च को अपने जन्मदिन के मौक़े पर ही अचानक हुए विमान हादसे में शहीद हो गए।

यह भी पढ़ें