Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला कोंडागांव का है।

भारत के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) होने वाले हैं। इस बीच नक्सली (Naxalites) फिर किसी बड़ी हिंसक घटना के लिए सक्रिय हो गए हैं।

Laxmikant Dwivedi: छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में रीवा के सपूत लक्ष्मीकांत द्विवेदी शहीद हो गए थे। उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार को पैतृक गांव पहुंचा।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। ताजा मामला गढ़चिरौली का है। यहां नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही है।

नक्सली (Naxalites) की पहचान आयतु काराम के रूप में हुई है। वह मिलिशिया सदस्य के रूप में सक्रिय था।नक्सली आयतु ने सुरक्षाबलों के सामने सरेंडर किया।

नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार चलाए जा रहे अभियान के बावजूद वो अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले का है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। ताजा मामला नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले का है। यहां पुलिस ने 2 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के चलगली इलाके में दहशत का नाम बन चुके नक्सली (Naxalites) जोनल कमांडर सीताराम की अनोखी कहानी सामने आई है।

नक्सल पीड़ित परिवारों (Naxalite Affected Families) को 'मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना' के अन्तर्गत निर्धारित न्यूनतम दर पर राशन दिया जायेगा और 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना' के अन्तर्गत मिलने वाली सुविधाओं की भी इनकी पात्रता होगी। 

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में पर्यटन के विकास की काफी संभावनाएं हैं। इससे प्रदेश की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने में मदद मिलने के साथ ही रोजगार के नए अवसर भी मिल सकेंगे। यही वजह है कि यहां पर्यटन को बढ़ावा देने पर सरकार भरपूर ध्यान दे रही है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। इस बीच खबर मिली है कि अबूझमाड़ का जंगल भी सुरक्षाबलों की नजर से बच नहीं पाएगा।

Chhattisgarh Budget 2021: मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने अपने कार्यकाल का तीसरा बजट पेश कर दिया है। सीएम भूपेश बघेल ने 1 मार्च को 97,106 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है।

नक्सलवाद एक खोखली विचारधारा है, इस बात को नक्सली (Naxalites) समझ रहे हैं और उनके सरेंडर करने का सिलसिला भी जारी है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। ताजा मामला दंतेवाड़ा जिले का है। एक इनामी समेत 3 नक्सलियों ने सरेंडर किया है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कांकेर जिले के अमाबेड़ा थाना क्षेत्र में सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सली (Naxalites) बम लगा रहे थे, इस दौरान बम फट गया और नक्सली खुद इसकी चपेट में आ गए।

नक्सलियों (Moist) के गढ़ छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सुकमा जिले के अलारमगु में CRPF के फॉरवार्ड ऑपरेटिंग बेस (FOB) का काम पूरा हो चुका है। यहां से CRPF के cobra202 बटालियन, 219 बटालियन और 50 बटालियन के जवान बीहड़ों में नक्सलियों की जड़ खोदने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

कार्रवाई नारायणपुर और कांकेर जिले के जवानों ने की है। नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ इस अभियान में DRG, STF, CAF और जिला पुलिस बल के जवान शामिल थे।

यह भी पढ़ें