छत्तीसगढ़: बीजापुर में नक्सलियों ने पुलिस मुखबिर होने के शक में एक निर्दोष धर्म प्रचारक की धारदार हथियार से की हत्या

17 मार्च को हथियारबंद नक्सलियों (Naxalites) का एक समूह यालम के घर पहुंचा और उसे बाहर ले जाकर धारदार हथियार से काटकर उसकी हत्या कर दी।

Naxalites

Photo Credit: @British Asian Christian Association

छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित जिला बीजापुर में नक्सलियों (Naxalites) ने पुलिस का मुखबिर होने के संदेह में एक धर्म प्रचारक (पादरी) की धारदार हथियार से काट कर हत्या कर दी।

महाराष्ट्र: गढ़चिरौली में खूंखार नक्सल दंपति (Naxalites) ने किया सरेंडर, दोनों के सिर पर था 20 लाख का इनाम

जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, बीजापुर के मद्देड़ थाना क्षेत्र के तहत आने वाले अंगमपल्लीगुआ गांव में 17 मार्च को हथियारबंद नक्सलियों (Naxalites) का एक समूह पादरी यालम के घर पहुंचा और उसे बाहर ले जाकर धारदार हथियार से काटकर उसकी हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए।

पुलिस अधिकारियों ने आगे बताया कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिस टीम ने पादरी यालम के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के जिला अस्पताल भेज दिया। हालांकि अभी तक इस बात की पुख्ता जानकारी नहीं है कि नक्सलियों ने यालम की हत्या क्यों की है।

अधिकारियों के मुताबिक, पुलिस को मौके से एक पर्चा मिला है जिसमें नक्सलियों (Naxalites) की मद्देड़ एरिया कमेटी ने यालम को पुलिस मुखबिर बताते हुए हत्या की जिम्मेदारी ली है। बताते चलें कि मृतक यालम इलाके में धर्म प्रचारक का काम करता था ना कि पुलिस की मुखबिर का। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी है। 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें