Uttarakhand

Bindukhatta: इस गांव को मिनी उत्तराखंड के नाम से भी जाना जाता है और यहां की कुल आबादी करीब 1 लाख है। अशोक चक्र विजेता मोहन नाथ गोस्वामी इसी गांव के थे।

नेगी जनवरी में LoC पर हुए हिमस्खलन का शिकार हो गए थे। इसके बाद से ही उनकी खोज जारी थी लेकिन जब सेना को उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी तो सेना ने उन्हें शहीद घोषित कर दिया।

अक्षय पालमपुर के पास कंडबाड़ी क्षेत्र के स्पैडू के रहने वाले थे। वह सिर्फ 23 साल के थे। पिछले चार सालों से अक्षय सेना में थे। अक्षय ने शुरू से ही भारतीय सेना में जाने का मन बना लिया था। सेना में जाना उनका बचपन का ख़्वाब था।

यह भी पढ़ें