Defense Minister

धर्मांतरण को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि मतांतरण कराने के किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) 3 दिन के दौरे पर रविवार सुबह लद्दाख पहुंचे हैं। इस दौरान वह लेह-लद्दाख सीमा क्षेत्र पर सुरक्षा तैयारियों का जायजा लेंगे।

रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान का नाम लिये बिना आतंकवाद को बढ़ावा देने, उसका समर्थन और वित्त पोषण करने और आतंकवादियों को शरण देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आह्वान किया।

इस योजना से भारतीय रक्षा और एयरोनॉटिक्स फिल्ड को कम समय में अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए नये, स्वदेशी और इनोवेटिव टेक्नोलॉजी तेजी से विकसित करने में मदद मिलेगी।

डिफेंस कॉरिडर के जरिए सेना से जुड़े सामान का निर्माण किया जाता है। दरअसल डिफेंस कॉरिडोर एक रूट होता है, जिसमें कई शहर शामिल होते हैं।

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि भारत कमजोर नहीं है, और सीमा पर किसी भी तरह की कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दे सकता है।

राजनाथ ने कहा, 'इन पुलों के निर्माण से सैन्य और नागरिक परिवहन की सुविधा बढ़ेगी।' बता दें कि 44 पुलों में से 22 पुल चीन सीमा के पास हैं।

यह भी पढ़ें