Featured

पूरे मैच के दौरान उनकी निगाहे जाकिर को ढूंढ रही थीं लेकिन वो नदारद था। उनके दिमाग में अजीब से ख्याल आ रहे थे। शायद बीमार तो नहीं हो गया या फिर नूरपुरा वालों ने उसे मुखबिर करार दे कर अलग तो नहीं कर दिया।

झारखंड (Jharkhand) के पूर्वी सिंहभूम जिले के पोटका प्रखंड के इस गांव के लोगों में कोरोना को लेकर जो जागरूकता है, उससे बहुत कुछ सीखा जा सकता है।

आशीष ने गौतम को अपना प्लान समझा दिया था। रोज तार के आगे रहने वाले लोग अपना शिनाख्ती कार्ड चेकपोस्ट पर दिखा कर अपने घर जाते थे।

छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा बॉर्डर के पास 3 अप्रैल 2021 को हुए नक्सली (Naxalites) हमले में 22 जवान शहीद हुए थे। ऐसे में कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

कर्नल शर्मा ने ये जिम्मेदारी स्वाति के सिर पर थोप दी। साथ में तीन लोगों की एक टीम भी उसके हवाले कर दी। वैसे उनके हिसाब से ये सब जरूरी तो था पर उतना नहीं जितना कि फील्ड में आतंकवादियों का एनकाउंटर करना।

झारखंड सरकार (Jharkhand Government) का वित्तीय वर्ष 2021-2022 का बजट 3 मार्च को पेश कर दिया गया। इस बार प्रदेश के बजट में सरकार ने आम जनता और विकास को ध्यान में रखा।

चिल्लाती भीड़ के उग्र रूप पर इसका कोई असर नहीं पड़ा था। तीनों ने गाड़ी के अंदर अपने आप को बंद कर लिया। मंजूर ने अपने हाथ सीट के नीचे छुपे हथियारों की तरफ बढ़ाए ही थे कि सुरेश ने उसको इशारे से मना कर दिया।

कार के बंपर पर थोड़ा पानी छिड़क कर खून के चंद धब्बे साफ किए और वापिस आ कर गाड़ी में बैठ गया। लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद आकाश की आंखों से वो दृश्य ओझल नहीं हो पा रहा था।

Indian Army Religious Teacher Recruitment 2021: भारतीय सेना (Indian Army) में जूनियर कमीशन ऑफिसर (JCO) बनने के लिए सुनहरा मौका है। इंडियन आर्मी ने रिलीजियस टीचर के पदों पर वैकेंसी निकाली है।

सरकार ने कहा कि हालांकि महाराष्ट्र, दिल्ली और चंड़ीगढ़ में बर्ड फ्लू (Bird Flu) की पुष्टि होने का इंतजार है क्योंकि इन शहरों से लिए गए नमूने लैब में टेस्ट के लिए भेजे गए हैं।

अयूब के कहने पर गौतम ने अपने सिपाहियों को चारों तरफ तैनात कर दिया था। अयूब का इशारा नजदीक ही एक छोटे से नाले की तरफ था।

होम मिनिस्ट्री ने खालिस्तानी समूहों (Khalistani Terrorists)  व उनसे सहानुभूति रखने वालों और उनसे जुड़े कई गैर–सरकारी समूहों को कथित विदेशी फंडिंग की व्यापक जांच शुरू करने का इशारा एजेंसियों को कर दिया है।

एक अनकहा उसूल था वहां। रात के अंधेरे में जंगली जानवरों के अलावा या तो फौजी बाहर रहते थे और या फिर सीमा पार से घुसपैठ की कोशिश करते आतंकवादी। ऐसे में किसी गांव वाले का रात को बाहर निकलना मौत को दावत देने की तरह था।

शहीदों के परिवारों, वीर नारियों और पूर्व सैनिकों के लिए 21 सब एरिया की ओर से स्थापित वेटर्न सहायता केंद्र (वीएसके) काफी सराहनीय काम कर रहा है। इस केंद्र ने कई सैनिकों और शहीदों के परिवारों की मदद की है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के सामने एक आतंकी के आत्मसमर्पण का वीडियो (Terrorist Surrender Video) सामने आया है। यह वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है। वीडियो सेना की तरफ से जारी किया गया है।

भारत और चीन (India-China) के रिश्ते में एक बार फिर तनाव है। दोनों देशों के बीच यह तनाव उस समय चरम पर पहुंच गया, जब जून के महीने में गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुए हिंसक संघर्ष में 20 भारतीय सैनिकों की मौत हो गई।

उस अंधेरी रात में जल्द ही फुरकान उसकी आंखों से दूर हो गया। ऋषभ के दिल में किसी अनहोनी का अंदेशा अब भी था। लाइन ऑफ कंट्रोल पर Indian Army हमेशा मुस्तैद थी। ऐसे में रात को किसी भी तरह की हरकत होती देख कर उनका कार्रवाई करना लाज़िमी था।

यह भी पढ़ें