Naxalite

नक्सलवाद प्रभावित (Naxalite) केसरिया गांव के इन लोगों की जीविका का मुख्य साधन मजदूरी है, ऐसे में लॉकडाउन (Lockdown) के कारण इन लोगों के सामने दो जून की रोटी का भी संकट खड़ा हो गया है।

नक्सली बुधरा (Naxalite) के गांव में उसकी मांं के अलावा उसकी पत्नी, भाई और परिवार के अन्य सदस्य भी रहते हैं। परिवार वालों के अनुसार उनका बेटा बुधरा कब नक्सली बन गया इस बात की उनको भनक भी नहीं लगी। आज से करीब 10 साल पहले वह अचानक ही घर छोड़कर चला गया और कई दिनों बाद परिवारवालों को उसके नक्सली बनने की सूचना लगी।

करीब 10 सालों तक साथ में रहते हुए नक्सलवाद का साथ देने वाले महिला और पुरुष नक्सली (Naxalite) ने अपने...

बिहार के जमुई जिले में सुरक्षाबलों को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस और सीआरपीएफ (CRPF) के 215 A...

दुनिया में मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं है और मदद से बड़ा कोई कर्म नहीं है। आज के आधुनिक...

छत्तीसगढ़ पुलिस को कांकेर में एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने नक्सलियों (Naxalite) के खिलाफ चलाए गए अपने...

झारखंड की राजधानी रांची के आस पास सक्रिय उग्रवादी संगठनों से उग्रवादी अपने पुराने संगठन को छोड़कर नया संगठन बना...

बस्तर के कोंडागांव में एक सरेंडर महिला नक्सली ने पुलिस में अपने ही साथी नक्सलियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। महिला नक्सली अपने दस्ते के साथी नक्सलियों से इतनी परेशान हो गई थी कि उसने आत्मसमर्पण कर दिया।  

नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा का कावड़गांव के युवा पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी अपनी पहचान बना रहे हैं। खासकर वालीबॉल के लिए तो यहां के युवा ही नहीं 4 साल के बच्चे तक दीवाने हैं।

आज के दौर में जहां दोस्त, दोस्त का सगा नहीं होता, भाई का भाई से बैर है। वहीं सीआरपीएफ (CRPF)...

कहानी एक ऐसे शख्स की जो पहले नक्सली था, वर्दी देखते ही उसका खून खौल उठता था। वर्दी के चिथड़े उड़ाना उसका पेशा था। आज वो पुलिस की वर्दी सिलता है।

छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले की नैना राज्य की पहली महिला हैं जिन्होंने किसी पर्वत की चढ़ाई पूरी की है। नैना ने 6,512 मीटर ‘भागीरथी 2’ को फतह कर नया कीर्तिमान बनाया है। भागीरथी-2 हिमालय की सबसे अधिक बर्फीली पहाड़ियों में से एक है, जो उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में है। पुलिस पिता की यह बिटिया जिगर के मामले में पुरुषों को भी मात देती है।

सावित्री बस्तर की ऐसी पहली छात्रा हैं, जिन्होंने आईआईटी क्रैक किया। नक्सल प्रभावित क्षेत्र में गरीबी और संसाधनों के अभाव का सामना करते हुए अनपढ़ माता-पिता की इस बेटी ने इतिहास रच दिया।

अकेले 200 नक्सलियों से लड़ते हुए के प्रसाद बाबू ने 9 नक्सलियों को मार गिराया। कई नक्सलियों को घायल कर दिया। बाद में प्रसाद बाबू को नक्सलियों ने पकड़ लिया। उन्हें टॉर्चर किया और उनकी हत्या कर दी।

Mumbai Marathon: 20 जनवरी को मुंबई में मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया। वैसे तो 2004 से हर साल जनवरी...

30 पूर्व नक्सलियों ने क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ स्टेडियम में देखा मैच। इनको देख कर कोई कह सकता है कि इन हाथों में पहले हथियार हुआ करते थे?

"नक्सली संगठन में हमें इंसानों को निशाना बनाने के लिए सिखाया गया था। पर यहां सब-कुछ बहुत अलग है। यहां किसी भी निर्दोष को निशाना नहीं बनाया जाता। यहां बच निकलने या भागने के लिए नहीं सिखाया जाता, बल्कि सामना करने के लिए सिखाया जाता है।"

यह भी पढ़ें