Naxal Attack

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कांकेर से गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) के लिए हथियार बनाने वाले गैंग ने पुलिस की पूछताछ में अपना गुनाह कबूल कर लिया। ढुट्टा बीएसएफ कैंप से गश्त में निकली जवानों की टीम ने जुंगड़ा के जंगलों से इन्हें गिरफ्तार किया था।

बिहार (Bihar) में पुलिस को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ सफलता मिली है। जमुई जिला पुलिस (Police) और सीआरपीएफ (CRPF) की संयुक्त कार्रवाई में जिले के बरहट थाना क्षेत्र के बरमसिया जंगल से एक नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार किया गया है।

जिले के तेलम और तुमकपाल के बीच स्थित जंगलों में नक्सलियों (Naxals) के मौजूदगी की सूचना पर डीआरजी (DRG) के जवान निकले थे। यहां नक्सली लीडरों (Naxali Leaders) की मौजूदगी में किसी बड़े हमले की रणनीति बन रहे थे।

कांकेर जिले में नक्सलियों (Naxals) के लिए हथियार बनाने वाले नक्सली सहित छह नक्सलियों को गिरफ्तार करने में पुलिस (Police) और बीएसएफ (BSF) के जवानों को सफलता मिली है।

चुनाव आयोग के निर्देश पर संबंधित जिले में पिछले एक महीने से जिला पुलिस अर्धसैनिक बलों की मदद से सर्च ऑपरेशन चला रही है ताकि नक्सलियों (Naxalites) को ठिकाना बनाने का मौका नहीं मिल सके।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धुर नक्सल ग्रस्त बस्तर (Bastar) में लाल आतंक (Naxalism) पर लगाम लगाने के लिए सुरक्षाबल मैदान में आ गए हैं। दरअसल, पिछले कुछ दिनों से नक्सली (Naxals) लगभग हर रोज हत्याएं कर रहे थे।

सुकमा जिले के कोटकपल्ली में लापता हुए एक युवक की तलाश करने गए चार ग्रामीणों को नक्सलियों ने अगवा (Villagers Abducted by Naxalites) कर लिया है। 14 सितंबर के बाद से लापता इन चारों का कोई सुराग नहीं मिला है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। नक्सलियों (Naxals) की नापाक हरकतों का माकूल जवाब दिया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सरकार और प्रशासन की सख्ती के चलते नक्सलियों (Naxals) का वर्चस्व कमजोर हो रहा है। सुरक्षाबल लगातार नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे अभियानों की वजह से नक्सलियों (Naxalites) की हालत पतली हो गई है।

नक्सली (Naxals) 21 सितंबर से स्थापना दिवस सप्ताह मना रहे हैं। इस सप्ताह भर में वे किसी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। जानकारी मिल रही है कि इस दौरान वे पूर्वी बिहार और मगध क्षेत्र में हिंसक घटनाओं को अंजाम देने की तैयारी में हैं।

बिहार (Bihar) के औरंगाबाद जिले में सुरक्षाबलों को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। यहां पुलिस ने एक कुख्यात इनामी नक्सली (Naxali) को गिरफ्तार किया है।

झारखंड (Jharkhand) के गुमला (Gumla) जिले में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ पुलिस जबरदस्त एक्शन में है। जिले से नक्सलियों (Naxalites) का सफाया करने के लिए पुलिसर प्रशासन ने कमर कस लिया है।

पुलिस (Police) की कार्रवाई से बैकफुट पर चल रहे नक्सली (Naxalites) पोस्टरबाजी कर अपनी सक्रियता दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। झारखंड (Jharkhand) के रांची जिले के तमाड़ थाना में नक्सलियों (Naxals) कई जगहों पर पोस्टबाजी की है।

बिहार (Bihar) के मोतिहारी जिले से पुलिस को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ कामयाबी मिली है। जिले के छौड़ादानो प्रखंड के दो अलग-अलग जगहों से पुलिस ने दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ (Naxali Encounter) हुई। जानकारी के मुताबिक, 17 सितंबर को जिले के गढ़ी थानांतर्गत बांधा टोला गांव के पास पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धुर नक्सल प्रभावित बस्तर (Bastar) में स्थानीय पुलिस ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ जबरदस्त अभियान शुरू किया है। इसके तहत नक्सलियों का आदिवासी विरोधी चेहरे को बेनकाब किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें