Naxal Attack

बिहार (Bihar) की औरंगाबाद पुलिस को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ एक और कामयाबी मिली है। 15 जनवरी को पुलिस ने स्‍थानीय भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह पर हमले की साजिश रचनेवाले भाकपा माओवादी के हार्डकोर नक्सली (Hardcore Naxali) को दबोच लिया है।

जिले के खैरा थाना क्षेत्र अंतर्गत दक्षिणी इलाके में किउल नदी के हरणी-खलारी घाट पर हो रहे पुल निर्माण स्थल पर 22 दिसंबर की रात हुए नक्सली हमले (Naxal Attack) के बाद मजदूरों में दहशत व्याप्त है।

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के नक्सल प्रभावित बालाघाट (Balaghat) जिले में नक्सलियों (Naxals) की बढ़ती सक्रियता को देखते हुए पुलिस (Police) ने अलर्ट (Alert) जारी कर दिया है।

झारखंड (Jharkhand) के खूंटी जिले में नक्सलियों को बड़ा झटका लगा है। जिले में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआई का सबजोनल कमांडर (PLFI Sub Zonal Commander) जिदन गुड़िया (Zidan Gudiya) मारा गया है।

लाल आतंक के गढ़ बस्तर (Bastar) में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। आए दिन नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ की खबरें आती रहती हैं। सुरक्षाबलों को चकमा देने के लिए नक्सली नई-नई चालें भी चलते रहते हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने सुकमा के IED ब्लास्ट में शहीद CRPF के असिस्टेंट कमांडेंट विकास सिंघल (Martyr Vikas Singhal) को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि विकास सिंघल ने कर्तव्य निर्वहन के दौरान अपनी शहादत दी।

ओडिशा में सुरक्षाबलों को नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। करीब 13 सालों से ओडिशा, छत्तीसगढ़ व आंध्र प्रदेश पुलिस के लिए सिरदर्द बने नक्सली किशोर उर्फ मासा कबासी को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ (Encounter) में मार गिराया।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित कोंडागांव जिले में दो महिला नक्सलियों (Women Naxals) ने आत्मसमर्पण कर दिया। इन महिला नक्सलियों ने 27 नवंबर को एसपी सिद्धार्थ तिवारी के सामने सरेंडर कर दिया।

बिहार (Bihar) के नक्सल प्रभावित (Naxal Area) गया जिले में नक्सली (Naxals) एक बार फिर से सिर उठाने लगे हैं। इस बार नक्सली अपने साथी कमांडर की मौत का बदला लेने की फिराक में हैं।

खबर आ रही है कि तेलंगाना के बड़े नक्सली नेताओं (Naxal Leaders) ने बस्तर के जंगलों में डेरा डाल रखा है। तेलंगाना स्टेट कमेटी के हरिभूषण, दामोदर आदि नेता तेलंगाना की सीमा से सटे सुकमा व बीजापुर जिलों के जंगलों में छिपे हुए हैं।

चतरा जिले के सिमरिया थाना क्षेत्र के तपसा गांव में नक्सलियों (Naxals) ने अर्घ्य देने आए एक कोयला व्यवसाई की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद छठ घाट पर अफरा-तफरी मच गई।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह जिले में नक्सलियों (Naxals) ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई है। ताजा मामला गिरिडीह जिले के नक्सल प्रभावित बिरनी प्रखंड के टोको धर्मपुर का है।

झारखंड (Jharkhand) के धनबाद जिले के धुर नक्सल प्रभावित टुंडी-तोपचांची के बिहड़ों से नक्सली गतिविधियां (Naxal Incidents) लगभग समाप्त हो चुकी है।

झारखंड (Jharkhand) में आखिरी सांसें ले रहे नक्सली संगठन (Naxal Organizations) एक बार अपना वर्चस्व बनाने की कोशिश कर रहे हैं। आए दिन वे किसी न किसी वारदात को अंजाम दे रहे हैं। इससे राज्य में एक बार फिर दहशत पैदा होने लगा है।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र गोइलकेरा थाना के कुईड़ा से पुलिस (Police) और सीआरपीएफ (CRPF) की संयुक्त टीम ने चार नक्सलियों (Naxals) को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। इनमें से दो नाबालिग हैं।

अभियान के दौरान पुलिस की टीम ने मिंगाचल नदी के किनारे 29 अक्टूबर की सुबह लगभग 6 बजे दरभा के पास एक टेंट लगा हुआ पाया। जिसके बाद पुलिस के जवानों ने घेराबंदी कर टेंट से 3 संदिग्ध लोगों को पकड़ा।

नक्सलियों (Naxals) को मौत के घाट उतार कर हमारे जवानों ने लाल आतंक के खिलाफ कमर कसी हुई है। बीते कुछ सालों में पुलिस फोर्स को नक्सलियों के खिलाफ बड़ी सफलताएं भी हाथ लगी हैं।

यह भी पढ़ें