Naxal Attack

नक्सल (Naxalites) पृष्ठभूमि पर बन रही कुछ फिल्मों को लेकर आतंकवाद विरोधी फोरम (Anti-Terrorism Forum) ने सेंसर बोर्ड में याचिका दायर की है।

बीजापुर में तैनात डीएसपी अभिषेक सिंह ने नक्सली हमले में शहीद हुए दीपक भारद्वाज (Deepak Bhardwaj) की जांबाजी का किस्सा साझा किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नक्सली (Naxalites) युवाओं को संगठन की ओर आकर्षित करने के लिए नक्सली यूनीफॉर्म और अपने हथियारों का इस्तेमाल करते हैं।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर में हुए नक्सली हमले (Naxal Attack) में शहीद जवानों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में असम पुलिस ने 48 वर्षीय लेखिका को गिरफ्तार किया है।

बीजापुर में तैनात डीएसपी अभिषेक सिंह ने नक्सली हमले में शहीद हुए दीपक भारद्वाज (Deepak Bhardwaj) की जांबाजी का किस्सा साझा किया है।

अधिकारी ने ट्विटर पर लिखा, बीजापुर नक्सली (Naxalites) हमले में बंधक बनाए गए जवान की बेटी की आवाज सुनकर मन भावुक हो गया।

जमुई जिले में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों (Naxalites) की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। जवानों ने जिले से भारी मात्रा में ​विस्फोटक (Explosive) बरामद किया है।

बिहार (Bihar) में सुरक्षाबलों द्वारा नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के दौरान नक्सली हमले (Naxal Attack) का खतरा है। इस बात की खुफिया जानकारी मिली है।

सीआरपीएफ (CRPF) कमांडो राकेश्वर सिंह की फोटो जारी कर नक्सलियों ने कहा है कि जवान सुरक्षित है। बता दें कि नक्सलियों ने कुछ स्थानीय मीडियाकर्मियों को एक पत्र जारी कर कहा था कि लापात जवान उनके कब्जे है।

छत्तीसगढ़ के नक्सल (Naxalites) प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले (Sukma) के बॉर्डर पर सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच शनिवार को हुई भीषण मुठभेड़ में नक्सलियों को काफी नुकसान पहुंचा है।

इस नक्सली घटना के पीछे के मास्टरमाइंड का नाम है माड़वी हिडमा (Madavi Hidma)। ये नक्सली 25 लाख का इनामी है और कई राज्यों में पुलिस के लिए मोस्टवांटेड है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर और सुकमा जिले के बॉर्डर पर हुए मुठभेड़ में 22 जवानों शहीद हो गए है। इस घटना ने छत्तीसगढ़ समेत पूरे देश को दहला दिया है। यह पहली बार नहीं है, जब नक्‍सली हमले (Naxal Attack) में जवानों ने अपनी जान गंवाई है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर-सुकमा बॉर्डर पर हुए नक्सली हमले (Naxal Attack) के बाद नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज किया गया है। हमले के बाद ये सवाल खड़े हो रहे हैं कि कहां चूक हुई?

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सुकमा-बीजापुर सीमा पर 3 अप्रैल को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ (Bijapur Sukma Encounter) में 22 जवान शहीद हो गए।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)  के बीजापुर में 3 अप्रैल को हुए नक्सली हमले (Naxal Attack) में 22 जवान शहीद हो गए। इस हमले ने पूरे देश को दहला कर रख दिया है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर में 3 अप्रैल को हुए नक्सली हमले (Bijapur Naxal Attack) को अंजाम देने के पीछे 25 लाख के इनामी कुख्यात नक्सली कमांडर हिडमा (Hidma) का हाथ बताया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ के बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर 3 अप्रैल को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई। नक्सलियों ने 700 जवानों को घेरकर हमला किया। इस मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं।

यह भी पढ़ें