Gaya

पुलिसिया पूछताछ में गिरफ्तार शख्स ने खुद की पहचान नक्सली कमांडर प्रद्युमन शर्मा उर्फ कुंदन उर्फ साकेत उर्फ लुल्ला बताया। प्रद्युमन साल 2003-04 से ही नक्सली संगठन के लिए काम कर रहा था।

ये तीनों नक्सली एक कंस्ट्रक्शन कंपनी से लेवी की मांग कर रहे थे। इन्हीं नक्सलियों ने 16 मई को गया-पटना रोड पर आगजनी की थी और जेसीबी मशीन में आग लगा दी थी।

नक्सलियों (Naxalites) ने लेवी वसूलने के लिए इलाके में सड़क निर्माण रोक दिया है। लेकिन पुलिस और प्रशासन की तरफ से अभी तक कोई बड़ा कदम नहीं उठाया गया है।

इमामगंज में CRPF के जवानों ने नक्सलियों की बड़ी साजिश को नाकाम किया है। ये कार्रवाई इमामगंज के परिया गांव कें जंगल में की गई है।

गया जिले के बाराचट्टी वन क्षेत्र में बिहार पुलिस और कोबरा बटालियन की माओवादियों (Maoists) के साथ मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में 3 लोग मारे गए हैं।

गया जिले (Gaya) में पुलिस की छापेमारी, बड़ी नक्सली साजिश नाकाम मोहनपुर थाना क्षेत्र के बरदाग गांव से गोला-बारूद बरामद...

बिहार के गया जिला के डुमरिया थाना की पुलिस ने 25 सितंबर को एक नक्सली को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार नक्सली डुमरिया प्रखंड के छकरबंधा पंचायत के कोकणा का रहने वाला दिनेश सिंह भोक्ता है।

बिहार के गया में 10 मार्च को आमस कैंप के प्लाटून कमांडर अवधेश कुमार सिंह के नेतृत्व में प्रखंड क्षेत्र के नक्सल प्रभावित झरी और बघमरवा गांव का दौरा किया।

यह भी पढ़ें