बिहार में नक्सलियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। इस बीच सुईया पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। नक्सली रविन्द्र राय (Ravindra Rai) को गिरफ्तार कर लिया गया है।

झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है, फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

मध्य प्रदेश में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है, फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। वे ग्रामीण और शहरी इलाकों में अपने संगठन के विस्तार में लगे हुए हैं।

देश में कोरोना (Coronavirus) के कुल मामले 3,15,72,344 हैं, जिसमें से एक्टिव केस 4,05,155 हैं और 3,07,43,972 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान जारी है। ऐसे में सरकार ने नक्सलियों के खात्मे के लिए एक नई रणनीति बनाई है।

Jammu and Kashmir: जिस वक्त बादल फटा उस समय कोई भी श्रद्धालु गुफा के अंदर मौजूद नहीं था। केवल श्राइन बोर्ड के कर्मचारी और सुरक्षाकर्मी वहां मौजूद हैं।

नक्सलियों (Naxalites) द्वारा अपहरण की घटनाओं में भारी कमी आई है। इस साल जून तक नक्सलियों द्वारा अपहरण के केवल 2 मामले सामने आए।

झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है, फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

लोन वर्राटू अभियान से प्रेरित होकर यहां एक लाख की इनामी महिला समेत 11 नक्सलियों (Naxalites) ने सरेंडर किया है। सरेंडर करने वाले नक्सलियों में 3 महिला नक्सली हैं।

बिहार में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच नक्सली अपना शहीदी सप्ताह मना रहे हैं, जिसको लेकर सुरक्षाबल पूरी तरह से अलर्ट हैं।

झारखंड में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। ताजा मामला सिमडेगा जिले का है। यहां पुलिस ने PLFI के 2 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। ताजा मामला दंतेवाड़ा का है। यहां पुलिस ने एक इनामी महिला नक्सली का स्मारक ध्वस्त कर दिया।

गिरफ्तारी के बाद इस नक्सली (Naxalites) से पूछताछ की जा रही है और उम्मीद जताई जा रही है कि वह कोई अहम जानकारी देगा।

15 लाख के इनामी नक्सली (Naxalites) बुद्धेश्वर उरांव के मारे जाने के बाद बूढ़ा पहाड़ में भाकपा माओवादी के नक्सली फिर जुटने लगे हैं।

बिहार में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान जारी है। इस बीच खबर मिली है कि नक्सली शहीद सप्ताह मनाने जा रहे हैं और आक्रोश में कुछ भी कर सकते हैं।

नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान जारी है, फिर भी नक्सली अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

ये वे गांव हैं, जहां कभी नक्सलियों (Naxalites) का वर्चस्व था और लोग डर के साये में जीते थे। लेकिन अब यहां के ग्रामीण एक नई जिंदगी जिएंगे, जहां उन्हें जिंदगी जीने की पूरी आजादी मिलेगी।

यह भी पढ़ें