पाकिस्तान रच रहा बड़े हमले की साजिश, बॉर्डर से लेकर घाटी तक हाई अलर्ट पर सुरक्षाबल

नियंत्रण रेखा पर पिछले दो महीने के भीतर 7 भारतीय जवान शहीद हो चुके हैं। वहीं इस साल अब तक पाकिस्तान (Pakistan) 2700 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है।

Pakistan

Pakistan increases ceasefire violations along LoC, attempts to infiltrate more terrorists

15 अगस्त के समीप आते आते सरहद से लेकर घाटी तक खतरा व तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। पाकिस्तान (Pakistan) एक अरसे से नियंत्रण रेखा और भारत–पाक सीमा पर निरंतर दवाब बनाए हुए है। शनिवार को नियंत्रण रेखा के जिला पुंछ के बालाकोट सेक्टर के तारकुड़ी की फारवर्ड़–पेास्ट पर तैनात भारतीय जवानों को निशाना बनाया। जिसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया। पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से मोर्टर दागे गए जिसकी चपेट में हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर का जवान रोहिन कुमार आ गया और फिर इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

विज्ञान के ‘गांधी’ थे आचार्य प्रफुल्लचंद्र राय: भारत में रसासन उद्योग की नींव और देश की पहली दवा कंपनी इन्होंने लगाई

रक्षा सूत्रों के मुताबिक‚ भारतीय सेना (Indian Army) की ओर से मुंहतोड़ जवाबी कार्रवाई की गई। नियंत्रण रेखा पर पिछले दो महीने के भीतर 7 भारतीय जवान शहीद हो चुके हैं। वहीं इस साल अब तक पाकिस्तान (Pakistan) 2700 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है। पिछली 17 जुलाई को जिला पुंछ के ही सरहदी इलाके खड़ी करमाडा में पाकिस्तानी गोलाबारी के कारण 3 नागरिकों की मौत हो गई थी।

पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ से लगातार हो रहा है सीजफायर 

पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने हाल में कहा था कि 2019 की अपेक्षा इस साल पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन की वारदात में 60 से 70 फीसदी बढोतरी हुई है। 5 अगस्त से लेकर 15 अगस्त तक पाकिस्तान की ओर से सरहद से लेकर घाटी में उसके आतंकियों द्वारा बडी हिंसक वारदात को अंजाम देने का खतरा लगातार बना हुआ है।

सूत्रों के अनुसार, ऐसा ही अंदेशा पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने पिछले दिनों अपने महकमें के तमाम आला अधिकारियों के साथ बैठक में जाहिर किया था। उन्होंने कहा था कि अफसरों से लेकर जवानों तक सभी मुस्तैद रहें। नियंत्रण रेखा तथा भारत–पाक सीमा पर सेना व सीमा सुरक्षाबल हाई अलर्ट पर हैं। लेकिन सरहद पार से आतंकी दस्तों की घातक हथियारों के साथ घुसपैठ को लेकर लगातार कोशिशें जारी हैं।

हाल ही में कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर के इलाके में कुछ संदिग्धों को देखा गया। सेना व पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया। लेकिन संदिग्ध हत्थे नहीं चढ़ सके।