Jammu kashmir

लेफ्टिनेंट कर्नल क्यू खान ने कहा कि कश्मीर घाटी और कई जगहों से सैनिकों के साथ आगे बढ़ने वाले सैन्य काफिले में झंडे को लाल से नीला कर दिया गया है।

राकेश्वर के परिजनों ने तिलक लगाकर और हार पहनाकर उनका स्वागत किया। बता दें कि राकेश्वर के नक्सलियों के चंगुल में होने की बात सुनकर उनके परिजन काफी दुखी थे

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने जम्मू-कश्मीर में राह भटकर आतंकवाद (Terrorism) के रास्ते पर गए युवाओं से मुख्यधारा में लौटने की अपील की है।

ऐसी ही घटना 1 जुलाई, 2020 को सोपोर में भी घटी थी। जहां आतंकवादियों (Militants) ने एक मस्जिद की आड़ में सीआरपीएफ टीम फायरिंग की थी, जिसमें एक जवान शहीद और एक नागरिक की मौत हो गई थी।

शहीद जवान अखून (Md. Saleem Akhoon) 2004 में  टेरिटोरियल आर्मी में शामिल हुये थे। वह भारतीय सेना (Indian Army) के 162 इंफैंट्री बटैलियन (टीए), (इखवान) का हिस्सा थे।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के शोपियां (Shopian) में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने 9 अप्रैल को अंसार गजवात-उल हिंद (Ansar Gazwat Ul Hind) के कमांडर इम्तियाज शाह (Imtiyaz Shah) को मार गिराया।

पुलिस और सेना के ज्वाइंट टीम ने इलाके की घेराबंदी की और वहां आतंकवादियों (Terrorists) की मौजूदगी के बारे में विशेष जानकारी के आधार पर सर्च अभियान चलाया।

एलओसी से लगते किशनगंगा नदी पर स्थित टिथवाल क्रॉसिंग ब्रिज दोनों देशों के बीच शांति के बिंदु के रूप में काम कर रहा है। इस जगह पर सरहद के दोनों ओर के बहुत से लोग पहुंचते हैं और यह एक पर्यटक स्थल के रूप में भी उभर रहा है

सांबा पुलिस के बम निरोधक दस्ते को सूचित करने से पहले वहां मौजूद आम लोगों को हटा दिया गया। इसके बाद घटनास्थल पर पहुंची बम निरोधक दस्ते की टीम बारूदी सुरंग में को नियंत्रित विस्फोटक की मदद से नष्ट कर दी।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में अवैध रूप से रह रहे 150 से अधिक रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya Muslims) को वापस उनके देश भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

भारत के खिलाफ लगातार साजिश रचने के लिए बदनाम पड़ोसी देश पाकिस्तान (Pakistan) ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा है।

आतंकियों (Terrorists)  के साथ सुरक्षाबलों की ये मुठभेड़ (Encounter) शोपियां के मनिहाल गांव में हुई है। 4 आतंकियों के मारे जाने के बाद भी पूरे इलाके में फायरिंग की आवाज आ रही है।

इसी महीने की 12 तारीख को भी बारामूला में आतंकियों ने ग्रामीण बैंक को लूट लिया था। जहां से आतंकियों (Militants) ने हथियार के दम पर करीब ढाई लाख रुपये लूटकर फरार हो गये थे।

घाटी में स्टिकी बम का खतरा बढ़ा है लेकिन वह किसी भी प्रकार के आतंकी हमले (Terror Attacks) को नेस्तनाबूद कर देंगे।

भारतीय सेना (Indian Army) की दरियादिली के किस्से हम आए दिन सुनते रहते हैं। हमारी सेना दुश्मनों से सरहद की रक्षा तो करती ही है, देश की आम जनता की मदद के लिए भी सेना हर पल तत्पर रहती है।

रोहिंग्या (Rohingya) शरणार्थियों के जम्मू-कश्मीर तक पहुंचने की जांच में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, म्यांमार में नस्ली भेदभाव और हिंसा शुरू होने के काफी पहले से ही रोहिंग्या को जम्मू में लाकर बसाने का सिलसिला शुरू हो गया था।

अनंतनाग में हुए मुठभेड़ में अब तक दो आतंकवादियों के मारे जाने की खबर है। आतंकवादियों (Militants) की पहचान आदिल अहमद भट्‌ट और जहीर आमीन राथर के रूप में हुई है।

यह भी पढ़ें