Jammu kashmir

बम निरोधक दस्ते ने बिना किसी नुकसान के नियंत्रित विस्फोट में आईईडी (IED) को नष्ट कर दिया। उन्होंने आगे बताया कि कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर दोषियों (Militant) को सजा दिलाने के लिए जांच जारी है।

पुलवामा हमले के बाद अंतर्राष्ट्रीय दबाव बढ़ने पर पाकिस्तान सरकार ने जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख (Masood Azhar) के बेटे और भाई समेत प्रतिबंधित आतंकी संगठन के 100 से ज्यादा आतंकियों को गिरफ्तार किया था।

कुलगाम पुलिस और 34 राष्ट्रीय रायफल्स ने मिलकर एक ऑपरेशन को अंजाम दिया है। इस ऑपरेशन के तहत आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के एक सहयोगी को गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तार किये गये व्यक्ति का संपर्क प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से है। पाकिस्तान में बैठे उसके आकाओं ने उसे शहर में ग्रेनेड धमाका करने का काम सौंपा था।'

स्थानीय पुलिस अधिकार के मुताबिक, इस दौरान आतंकियों (Militants) ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। अधिकारी ने बताया कि जवाबी कार्रवाई में दो आतंकवादी मारे गए, जिनकी पहचान और संगठन का पता लगाया जा रहा है।

आतंकवादियों (Militants) के सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाने से मुठभेड़ की शुरुआत हुई, जो कि अभी भी जारी है और अधिकृत जानकारी मिलने का इंतजार है।

Jammu Kashmir DDC Elections Results: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद-370 (Article-37) हटने और केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद पहली बार हुए जिला विकास परिषद (DDC) के चुनाव के नतीजे 22 दिसंबर को घोषित हो गए।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आतंक के खिलाफ सुरक्षाबलों का अभियान जारी है। इस बीच कुलगाम में जवानों को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के दो आतंकियों ने सुरक्षाबलों के सामने सरेंडर (Terrorists Surrender) कर दिया।

स्थानीय पुलिस के एक अधिकारी के अनुसार, आतंकियों (Militants) ने शाम करीब 6.50 बजे जिले के अचाबल क्षेत्र में सीआरपीएफ जवानों के एक दल पर ग्रेनेड फेंका।

पाकिस्तानी सेना द्वारा सीजफायर तोड़ने के बाद भारतीय सेना द्वारा ये कार्रवाई की गई है। सेना ने 2 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया है।

Kashmir: कश्मीर में पिछले 30 सालों में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं की रक्षा करते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस के करीब 1700 पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं।

13 दिसंबर को पुंछ जिले में पीर पंजाल पर्वत शृंखला (Pir Panjal Range) में 16 साल बाद आतंकियों (Terrorists) के साथ सुरक्षाबलों की हुई मुठभेड़ (Encounter) इस बात की गवाह है कि पाकिस्तान घुसपैठ के पुराने रूटों को सक्रिय कर रहा है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। जिले के टिकेन इलाके से इस मुठभेड़ की खबर आ रही है। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया है।

Ummer Fayaz: रात में करीब 10 बजे 3 आतंकियों ने उनको किडनैप कर लिया था। इसके बाद उनका शव उनके घर से तीन किलोमीटर दूर हरमेन गांव से मृत हालत में मिला था।

सुरक्षाबलों द्वारा आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसका नतीजा ये है कि आतंकी या तो सरेंडर कर रहे हैं, या फिर मुठभेड़ में ढेर किए जा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद-370 (Article 370) हटने के बाद पहली बार जिला विकास परिषद (DDC) के चुनाव हो रहे हैं। जिला विकास परिषदों (डीडीसी) के लिए पहले चुनावों के पहले चरण का मतदान 28 नवंबर को सुबह शुरू हुआ।

जम्मू-कश्मीर के सांबा जिले में BSF ने सीमावर्ती गांव चक फकीरा में एक घुसपैठिए को मार गिराया। 23 नवंबर की शाम करीब साढ़े छह बजे सांबा जिले के चक फकीरा की भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर एक घुसपैठिया जीरो लाइन को पार कर तारबंदी के पास छिप कर आ रहा था।

यह भी पढ़ें