Pakistan

अमित शाह (Amit Shah) ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ मकवाल सीमा के पास अग्रिम चौकियों का दौरा किया। वहां पर उन्होंने बीएसएफ जवानों से भी बात की और उनके साथ समय बिताया।

जनरल रावत (General Bipin Rawat) के अनुसार, जम्मू कश्मीर से लोगों के संभावित पलायन को रोका जाना चाहिए। पाकिस्तान की सोच का जवाब देने के लिए खुफिया तंत्र को मजबूत किया जा रहा है।

पिछले 2-3 महीनों में अब तक 10 से ज्यादा पाकिस्तानी मूल के लश्कर के आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी व पुंछ के सीमावर्ती इलाकों से भारतीय सीमा में घुसपैठ की है।

अलकायदा (Al Qaeda) के आधिकारिक मीडिया विंग अस साहब ने भारत में कथित तौर पर मुसलमानों के उत्पीड़न से संबंधित कुछ वीडियो शेयर किए हैं। इनमें से कुछ वीडियो असम के भी हैं।

आईएसआई और आतंकी संगठन उन आतंकियों (Terrorists) की मदद करने के लिए सहमत हुए जो नवीनतम हमलों और टारगेट किलिंग (Target Killing) के लिए भारतीय सुरक्षाबलों की निगरानी में नहीं हैं।

अमित शाह (Amit Shah) ने बताया कि दुनिया ने देख लिया है कि एक वह युग था जब बातों से बात होती थी और फिर एक अब युग आया है जब जैसा सामने से सवाल आएगा‚ वैसा ही जवाब दिया जाएगा

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के रहने वाले मोहम्मद अशरफ उर्फ अली अहमद नूरी बांग्लादेश के रास्ते भारत आया था और वह फर्जी डॉक्यूमेंट्स के जरिए भारतीय पहचान पत्र हासिल कर करीब 10 साल से भारत में रह रहा था।

डॉ. काजल भट्ट ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई सभी मोर्चों पर लड़े जाने की बात पर जोर दिया और कहा कि सभी सदस्य देशों को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी कार्यक्रमों और सम्मेलनों में निहित अपने दायित्वों को पूरा करना चाहिए।

पाकिस्तानी ड्रोन से गिराए गए पैकेट में एक एके असॉल्ट राइफल, तीन मैगजीन, 30 गोलियां और एक टेलीस्कोप बरामद हुआ है।

पाकिस्तान (Pakistan) में शुरू हो रहे शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सदस्य देशों के आतंकवाद निरोधी अभ्यास में भारत भी हिस्सा लेगा।

अली के मुताबिक, मेरी मां की बीमारी के इलाज के लिए पैसों की जरूरत थी, लिहाजा मैं अनस के साथ चला गया। उसने मुझे 20 हजार रुपये दिए और बाद में 30 हजार और देने का वादा किया।

पाकिस्तान‚ लश्कर–ए–तैयबा और जैश–ए–मोहम्मद जैसे भारत को निशाना बनाने वाले पांच आतंकवादी समूहों (Terror Groups) समेत ‘विदेशी आतंकवादी समूहों (Terror Groups)' के कम से कम 12 समूहों का अड्डा है।

पाकिस्तानी सेना ने 1971 के दौरान पूर्वी पाकिस्तान (बांग्लादेश) में जमकर हाहाकार मचाया था। सैकड़ों निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था। पाकिस्तानी सेना की इन हरकतों से पूर्वी पाकिस्तान में विद्रोह की लहर बढ़ती जा रही थी।

बांग्लादेश (Bangladesh) की आजादी में भारत की अहम भूमिका रही है। बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई में भारतीय सेना (Indian Army) ने सीधे पाकिस्तानी सैनिकों से टक्कर ली थी।

गिरफ्तार आतंकी (Militant) पीओके में मौजूद टीआरएफ के हैंडलर अहमद खालिद के निर्देश पर जम्मू आया था। इलाके की जानकारी हासिल करने में  इस आतंकी की मदद करने वाले उसके दो साथियों को भी पकड़ने के प्रयास तेज कर दिये गये हैं। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने कहा कि समूचे केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख ‘‘हमेशा भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा थे, हैं और रहेंगे। इसमें वे क्षेत्र भी शामिल हैं जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे में हैं।

ऑपरेशन को बांग्लादेश की आजादी के नायक शेख मुजीबुर रहमान के 6 प्वाइंट का फॉर्मूला पाकिस्तान सरकार के सामने रखने के बाद शुरू किया गया था।

यह भी पढ़ें