Pakistan

पाकिस्तान (Pakistan) में आए दिन वहां की सरकार के खिलाफ लोदों की नाराजगी किसी न किसी रूप में जाहिर होती रहती है। बलूचिस्तान और गिलगित-बाल्टिस्तान में पाकिस्तानी हुकूमत के खिलाफ आंदोलन होते ही रहते हैं।

रविवार शाम को भी पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़ा था और गोलीबारी की थी। पाक सेना ने सैन्य चौकियों और रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) सोशल मीडिया का प्रयोग करके गलत जानकारियां फैला रहा है और नई भर्ती कर रहा है। वह कश्मीर में अस्थिरता फैलाना चाहता है।

ताजा मामला ये है कि 14 जनवरी को BSF ने एक पाकिस्तानी घुसपैठिए को मार गिराया है। ये घुसपैठिया भारतीय सीमा में गुरुदासपुर सेक्टर में घुस आया था।

लंदन में भारतीय उच्चायोग ने इस तरह के शब्दों के इस्तेमाल पर भी कड़ी आपत्ति जताते हुए ब्रिटिश सासंदों को ही समस्या से प्रेरित बताया।

पाकिस्तान की एक आतंक रोधी अदालत ने हाफिज सईद के 2 करीबी सहयोगियों को आतंकवाद को पोषित करने के मामले में 15-15 साल से ज्यादा जेल की सजा सुनाई है।

पाकिस्तान (Pakistan) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। ताजा मामला राजौरी जिले का है।

लोग पाक सरकार के खिलाफ नाराजगी जता रहे हैं। गिलगित-बाल्टिस्तान के स्कर्दू शहर में शनिवार को लोगों ने पाक सेना के खिलाफ विशाल रैली भी निकाली।

एटीसी (ATC) गुजरांवाला की जज नताशा नसीम सुप्रा ने सुनवाई के दौरान सीटीडी को जैश-ए-मोहम्मद (JeM) चीफ मसूद अजहर (Masood Azhar) को 18 जनवरी तक गिरफ्तार करने और कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया।

पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले गिलगित-बाल्टिस्तान (Gilgit Baltistan) क्षेत्र में स्थानीय लोगों का पाकिस्तान की सरकार और सेना के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। आए दिन लोग पाकिस्तानी सेना के खिलाफ रैलियां निकाल रहे हैं और नारेबाजी कर रहे हैं।

लाहौर (Lahore) के एंटी टेरर कोर्ट ने 8 जनवरी को 26/11 मुंबई हमले के मास्‍टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के आतंकी जकीउर रहमान लखवी (Zakiur Rehman Lakhvi) को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है।

पुलवामा हमले के बाद अंतर्राष्ट्रीय दबाव बढ़ने पर पाकिस्तान सरकार ने जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख (Masood Azhar) के बेटे और भाई समेत प्रतिबंधित आतंकी संगठन के 100 से ज्यादा आतंकियों को गिरफ्तार किया था।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मिर्जापुर (Mirzapur) के रहने वाले पुनवासी लाल 10 साल तक पाकिस्तान (Pakistan) की जेल में बंद रहने के बाद 5 जनवरी को घर वापास लौटे। पुनवासी की घर वापसी पर परिवार में खुशी का माहौल है।

साल 2020 में पाकिस्तान (Pakistan) में आतंक (Terrorism) की जड़ें और मजबूत हुईं हैं। यहां पाकिस्तानी तालिबान और उसके दलों ने अपने वर्चस्व को बढ़ाया है। सरकार का नेशनल प्लान भी कारगर साबित नहीं हो सका।

खुफिया एजेंसियों की एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI, भारत में LoC के रास्ते से आतंकी घुसपैठ कराने की साजिश रच रही है।

ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि भारतीय सुरक्षाबलों की सख्ती की वजह से वह सीधे तौर पर आतंकियों की भर्ती नहीं कर पा रहे हैं।

कोविड-19 के बाद फिर से रावी नदी (Ravi River) के बहाव को नियंत्रित करने के लिए बनाया जा रहा शाहपुरकंडी डैम (Shahpurkandi Dam) का निर्माण कार्य शुरू हो गया है।

यह भी पढ़ें