सुर्खियां

कश्मीर के बडगाम में सेना के जवान को आतंकियों द्वारा अगवा किए जाने की अफ़वाह फैल रही थी। जिसको रक्षा मंत्रालय ने खारिज किया है।

राजस्थान के बीकानेर में भारतीय वायुसेना का मिग-21 बाइसन लड़ाकू विमान क्रैश हो गया है।

संयुक्त राष्ट्र ने 26/11 मुंबई आतंकी हमले के मास्टर-माइंड और दुनिया के मोस्टवांटेड ,जमात उद दावा के मुखिया हाफिज सईद की प्रतिबंधित आतंकियों की सूची से निकालने की याचिका को खारिज कर दिया है।

भारत अपनी सैन्य शक्तियों में दिन-ब-दिन इजाफा कर रहा है। इसी कड़ी में एक कदम और बढ़ाते हुए भारत ने रूस के साथ एक बड़ा समझौता किया है।

जम्मू शहर में गुरुवार सुबह बड़ा हादसा हुआ। जम्मू-कश्मीर में सबसे व्यस्त जम्मू बस स्टैंड पर 7 मार्च को एक बस के अंदर बम धमाका हुआ।

केरल पुलिस की विशेष यूनिट थंडरबोल्ट ने एनकाउंटर की घटना को अंजाम दिया है। इस पुलिस एनकाउंटर में माओवादी नेता सीपी जलील मारा गया है।

जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों की मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर हो गया है।

पुलवामा हमले की साजिश रचने वाले आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए भारत ने अपनी तरफ से कोशिशें तेज कर दी हैं।

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर भारत की तरफ से दबाव बढ़ता जा रहा है। इसके चलते पाकिस्तान में जैश सरगना मसूद अजहर के दो भाइयों समेत 44 आतंकियों को गिरफ्तारी किया गया है।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके में आतंकियों के साथ दो दिन से चल रही मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है।

पाकिस्तान की नौसेना (Pakistan Navy) ने दावा किया है कि एक भारतीय पनडुब्बी उसके जल क्षेत्र में घुसने की कोशिश कर रही थी, जिसे उन्होंने नाकाम कर दिया।

सर्विलांस के मुताबिक आतंकी कैम्प में 300 मोबाइल फोन के एक्टिव होने की बात सामने आई थी, जिससे सीधे तौर पर पता चलता है कि वहां कितने आतंकी मौजूद थे।

राजस्थान में भारत-पाकिस्तान सीमा पर घुसपैठ की कोशिश कर रहे एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया गया है।

हाइब्रिड वॉरफेयर का ताजा शिकार है भारत, जो लगातार आसानी से इसकी जद में आता जा रहा है। यह भारत की अस्मिता, संप्रभुता, सभ्यता, सांस्कृतिक, सामाजिक परिवेश को तबाह करने वाला बेजोड़ टूल साबित होता जा रहा है।

दिन में कई बार बीच-बीच में गोलीबारी बंद हुई लेकिन जैसे ही सुरक्षाकर्मी उस मकान की ओर बढ़ते आतंकवादी गोलियां चलानी शुरू कर देते।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद से भारत समेत दुनिया के तमाम देशों का जैश-ए-मोहम्मद और उसके सरगना पर कार्रवाई का पाकिस्तान पर जबरदस्त दबाव है। मुमकिन है कि अंतरराष्ट्रीय दवाब से बचने के लिए पाकिस्तान ने मसूद अजहर के मारे जाने की अफवाह उड़ाई हो।

15 साल पहले ही आतंक की इस फैक्टरी का नक्शा तैयार कर लिया था लेकिन वहां जाकर एयर स्ट्राइक करने की अनुमति नहीं मिल पाई थी। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने सख़्त रूख अपनाया और इन सभी आतंकी कैम्पों को खत्म करने का ठान लिया।

यह भी पढ़ें