Jammu-Kashmir: शोपियां में आतंकी मुठभेड़, एसपीओ से बना था आतंकी, दो साथियों के साथ हुआ ढेर

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में शोपियां के वाची इलाके में 20 जनवरी की सुबह सुरक्षाबलों और आतंकियों (Terrorists) के बीच मुठभेड़ में हिजबुल के तीन आतंकी मारे गए। इनमें पुलिस का एक भगोड़ा भी शामिल है। पुलिस ने यह जानकारी दी।

Terrorists

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में शोपियां के वाची इलाके में 20 जनवरी की सुबह सुरक्षाबलों और आतंकियों (Terrorists) के बीच मुठभेड़ में हिजबुल के तीन आतंकी मारे गए।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां के वाची इलाके में 20 जनवरी को सुरक्षाबलों और आतंकियों (Terrorists) के बीच हुई मुठभेड़ में हिजबुल के तीन आतंकी मारे गए। इनमें पुलिस का एक भगोड़ा भी शामिल है। पुलिस ने यह जानकारी दी।

Terrorists
शोपियां मुठभेड़ में मारे गए आतंकी।

जम्मू-कश्मीर में शोपियां के वाची इलाके में 20 जनवरी की सुबह सुरक्षाबलों और आतंकियों (Terrorists) के बीच मुठभेड़ में हिजबुल के तीन आतंकी मारे गए। इनमें पुलिस का एक भगोड़ा भी शामिल है। पुलिस ने यह जानकारी दी। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, ‘आतंकवादियों के मौजूद होने की गोपनीय सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने शोपियां जिले के वाची क्षेत्र में घेराबंदी करके तलाश अभियान शुरू किया। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों (Terrorists) से आत्मसमर्पण करने को कहा गया, लेकिन उन्होंने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं। जिसके बाद दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गई। इस मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन (Hizb-ul-Mujahideen) के तीन आतंकवादी (Terrorists) मारे गए।’

जानकारी के अनुसार, मारे गए आतंकवादियों में से एक आदिल शेख है। वह शोपियां का ही रहने वाला था। यह जम्मू-कश्मीर पुलिस में एसपीओ के पद पर भी रह चुका था। जहां से भाग कर यह आतंकी संगठन हिजबुल में शामिल हो गया था। उसने 29 सितंबर, 2018 को जवाहर नगर श्रीनगर से पीडीपी के तत्कालीन विधायक अजाज मीर के घर से 8 हथियार लूटे थे। दूसरा आतंकी वसीम वानी है। वह भी शोपियां का ही रहने वाला था। तीसरे आतंकी की पहचान जहांगीर मलिक के रूप में हुई है। वह पुलवामा जिले के अचेन इलाके का रहने वाला था।

इससे पहले, 12 जनवरी को पुलवामा के त्राल में सेना ने मुठभेड़ के दौरान तीन आतंकियों को मार गिराया था। मारे गए आतंकियों में हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर हमाद खान भी शामिल था। हमाद का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी कामयाबी रही। बता दें कि आतंकी सबजार अहमद भट्ट के मारे जाने के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन ने आतंकी हमाद खान को कश्मीर में आतंकवाद फैलाने की जिम्मेदारी दी थी। साथ ही उसे नया कमांडर बनाया था। आतंकी हमाद त्राल का रहने वाला था।

पढ़ें: कभी नक्सल आतंक के साए में रहा इलाका विकास की राह पर बढ़ रहा आगे

यह भी पढ़ें