NIA को सौंपी गई हिज्बुल आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकियों के साथ पकड़े गए डीएसपी दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) से जुड़े मामले की जांच का जिम्मा सौंप दिया गया है। डीएसपी को हिजबुल के आतंकवादियों के साथ पकड़ा गया था। NIA ने डीएसपी दविंदर सिंह के खिलाफ आर्म्स एक्ट, विस्फोटक पदार्थ रखने समेत अनलॉफुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट (यूएपीए) की कई धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।

NIA
दविंदर सिंह (फाइल फोटो)।

बीते दिनों केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) से जम्मू-कश्मीर के गिरफ्तार डीएसपी दविंदर सिंह के मामले में जांच प्रक्रिया शुरू करने को कहा था। डीएसपी दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) की आतंकवादियों के साथ गिरफ्तारी के मद्देनजर जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) सरकार ने जम्मू और श्रीनगर हवाईअड्डों की सुरक्षा जल्द केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षाबल (सीआईएसएफ) के हवाले करने का आदेश दिया है। जम्मू-कश्मीर के गृह विभाग की ओर से पुलिस महानिदेशक को भेजे गए आदेश में कहा गया है कि दोनों संवेदनशील हवाईअड्डों की सुरक्षा 31 जनवरी तक सीआईएसएफ (CISF) को सौंप दी जाए। यह आदेश 15 जनवरी को जारी किया गया।

दविंदर सिंह, डीएसपी हवाईअड्डा सुरक्षा के रूप में तैनात था, जिसे 11 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में एक वाहन से हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादियों नवीद बाबा और आतिफ तथा आतंकी संगठनों के लिए काम करने वाले एक वकील के साथ गिरफ्तार किया गया था। डीएसपी पर आतंकवादियों से मिलीभगत और उन्हें देश के अन्य हिस्सों तक पहुंचाने में मदद करने का आरोप है। डीएसपी दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) के साथ पकड़े गए वाहन चालक मीर पर आरोप है कि उसे पाकिस्तान से आदेश मिलते थे। उसने भारतीय पासपोर्ट पर पांच बार पाकिस्तान की यात्रा की थी।

मामला NIA को सौंपने से पहले जम्मू और दिल्ली में आवश्यक औपचारिकताएं पूरी की गईं। बता दें कि दविंदर सिंह को निलंबित कर दिया गया है। निलंबित डीएसपी को दिया गया ‘शेर-ए-कश्मीर’ (Sher-e-Kashmir) का पदक भी छीन लिया गया है। जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) सरकार ने आदेश जारी कर यह पदक छीन लिया। सरकारी आदेश के अनुसार, निलंबित अधिकारी का कदम विश्वासघात के बराबर है और उससे पुलिस बल की छवि खराब हुई है। गिरफ्तारी के तत्काल बाद सिंह के आवास सहित विभिन्न जगहों पर पुलिस टीम भेजी गई थी। सिंह के आवास से दो पिस्तौल, एक एके राइफल और काफी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया था।

पढ़ें: रह चुके हैं संयुक्त राष्ट्र मिशन का हिस्सा, जानिए कौन हैं लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here