Gadchiroli Naxal Attack: साथी महिला नक्सली के साथ धराया गढ़चिरौली हमले का मास्टर माइंड

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में 1 मई, 2019 को हुए नक्सली हमले (Gadchiroli Naxal Attack) का मास्टरमाइंड दिनकर गोटा पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। इस लैंडमाइन ब्लास्ट में 16 लोगों की जान चली गई थी। गढ़चिरौली के एसपी शैलेश बलकवडे के मुताबिक, पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर कोच्चि दलम मंडल समिति के सदस्य दिनकर गोटा और उनकी साथी महिला नक्सली सुनंदा कोरेती को गिरफ्तार किया है।

Gadchiroli Naxal Attack
गढ़चिरौली नक्सली हमला (फाइल फोटो)।

गोटा पिछले साल 1 मई को गढ़चिरौली के जम्भुलखेड़ा में हुए बारूदी सुरंग विस्फोट के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक था। इस हमले में 15 पुलिसकर्मी और एक वाहन चालक मारे गए थे। मास्टरमाइंड दिनकर गोटा 4 मार्च को गढ़चिरौली के बाहरी क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया।

पहली पत्नी ने कर दिया था आत्मसमर्पण: बता दें कि नक्सली नेता अपने एक्स्ट्रा मैरिटल रिलेशनशिप की वजह से कुछ सहयोगियों के साथ अलग रह रहा था। सूत्रों का कहना है कि दिनकर गोटा ने जब अपनी पहली पत्नी सुनीता को छोड़ने का फैसला किया था तो उसका कोच्चि दमलम के वरिष्ठ लोगों से विवाद हो गया था। बाद में टिप्परगढ़ दलम की सदस्य सुनीता ने पिछले साल आत्मसमर्पण कर दिया था क्योंकि उसके पति की सुनंदा से नजदीकी हो गई थी।

बारामुला में आतंकी हमला, एसपीओ सहित दो लोगों की मौत

सुनीता ने जब आत्मसमर्पण कर दिया तो उसके संगठन के वरिष्ठ सदस्यों ने उसे चेतावनी देते हुए कहा कि वह सुनंदा से अलग हो जाए वरना उसे संगठन से बाहर निकाल दिया जाएगा। सूत्रों ने कहा कि इससे पहले कि उसे निकाल दिया जाता वह पिछले सितंबर सुनंदा के साथ संगठन छोड़कर चला गया था।

108 गंभीर मामलों का है आरोपी: गोटा पिछले साल गढ़चिरौली के जंभुलखेड़ा में हुए विस्फोट (Gadchiroli Naxal Attack)  के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक था। साथ ही वह दत्तापुर-कुरखेड़ा में 36 वाहनों को जलाने में भी शामिल था। एसपी ने कहा कि गढ़चिरौली में गोटा के खिलाफ 33 हत्या के मामलों सहित कम से कम 108 गंभीर अपराध दर्ज हैं। उन्होंने कहा कि गोटा के सिर पर 16 लाख रुपये का इनाम है और कोरेटी के सिर पर दो लाख रुपये का इनाम है। कोरेटी के खिलाफ 38 गंभीर अपराध दर्ज हैं।

जवानों ने नक्सली शिविर को किया नष्ट: इसके अलावा पूर्वी, 4 मार्च की सुबह महाराष्ट्र जिले में एक नक्सली शिविर को भी नष्ट कर दिया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। जानकारी के अनुसार, गढ़चिरौली के कुरखेड़ा में महाराष्ट्र पुलिस के कमांडो और नक्सलियों की मुठभेड़ हुई। इस दौरान नक्सल शिविर को नष्ट कर दिया गया।

पुलिस ने बताया कि कैंप में मौजूद करीब 70-80 नक्सलियों ने पुलिस पर गोलियां चलाईं, लेकिन जवाबी कार्रवाई के बाद वे पीछे हटने को मजबूर हो गए। पुलिस ने मौके से बरामद आईईडी, माइंस, असलहा और अन्य सामग्री बरामद किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here