अलकायदा चीफ अल जवाहिरी ने वीडियो जारी कर भारत को दी धमकी, पाकिस्तान की खोली पोल

ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद अयमान अल जवाहिरी इस अतंरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन अलकायदा का नया प्रमुख बन चुका है। अयमान ने जो वीडियो संदेश जारी किया है उसका शीर्षक है ‘कश्मीर को न भूलें।’

अलकायदा, ओसामा बिन लादेन, भारत, पाकिस्तान, अल जवाहिरी, आतंकवादी, जम्मू कश्मीर, कश्मीर

अल कायदा चीफ ने वीडियो संदेश के जरिए खोली पाकिस्तान की पोल। फाइल फोटो।

आतंकी संगठन अलकायदा के प्रमुख अयमान अल जवाहिरी ने खुलेआम भारत को चुनौती देकर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को एक बार फिर बेनकाब कर दिया है। अलकायदा वही आतंकी संगठन है जिसके पूर्व चीफ ओसामा बिन लादेन ने दुनिया भर में कई बम धमाके किए और कई निर्दोषों को मौत के घाट उतारा। बाद में अमेरिकी सेना ने लादेन को पाकिस्तान के एबटाबाद में हमेशा-हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया था।

ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद अयमान अल जवाहिरी इस अतंरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन अलकायदा का नया प्रमुख बन चुका है। अयमान ने जो वीडियो संदेश जारी किया है उसका शीर्षक है ‘कश्मीर को न भूलें।’ इसमें जवाहिरी कहता है, ‘मैं समझता हूं कि कश्‍मीर में मुजाहिद्दीन को वर्तमान स्‍तर पर केवल भारतीय सेना और सरकार पर हमले पर फोकस करना चाहिए। इससे भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था कमजोर होगी और उसे कामगारों और सामानों की कमी होगी।’

म्यूजिक टीचर बन करती थी यह गंदा काम, 10 फर्जी आधार कार्ड रखने वाला दंपत्ति धराया

सीधे-सीधे भारत को धमकी देने के अलावा इस आतंकी संगठन के चीफ ने पाकिस्तान सरकार को अमेरिका का चापलूस करार दिया है। उसने कहा कि ‘पाकिस्‍तान ने रूस के अफगानिस्‍तान से चले जाने के बाद ‘अरब मुजाहिद्दीन’ को कश्‍मीर जाने से रोका था।’ जवाहिरी ने कहा, ‘पाकिस्‍तानी सेना और सरकार केवल मुजाहिद्दीनों का विशेष राजनीतिक इस्‍तेमाल करने में रुचि रखती है। बाद में उन्‍हें उनके हाल पर छोड़ देती है या फिर उन पर अत्‍याचार करती है।’

बता दें कि इस वीडियो को अलकायदा के मीडिया विंग अल शबाब ने जारी किया है। इस वीडियो जवाहिरी ने यह भी बताया कि किस तरह से पाकिस्‍तान कश्‍मीर में सीमापार आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। अलकायदा चीफ ने यह भी दावा किया कि ‘कश्‍मीर में लड़ाई’ अलग संघर्ष नहीं है बल्कि पूरी दुनिया में मुस्लिम समुदाय द्वारा विभिन्‍न ताकतों के खिलाफ चलाए जा रहे जिहाद का हिस्‍सा है। उसके आतंकी कश्‍मीर में मस्जिदों, बाजारों और जहां मुस्लिम इकट्ठा हों, उसे नुकसान न पहुंचाएं।

NSG: कैसे बनते हैं ब्लैक कैट कमांडो?

यह भी पढ़ें