दंतेवाड़ा: नक्सलियों ने अपने ही 2 साथियों की कर दी हत्या, हैरान कर देगी वजह

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

नक्सलियों ने गांव में देर रात एक बैठक बुलाई थी और ये आदेश दिया था कि बनी हुई सड़क को काट दिया जाए.नक्सलियों के इस आदेश से उनके ही कुछ साथी सहमत नहीं थे, जिस वजह से विवाद हो गया।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के गढ़ कहे जाने वाले दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने एक बार फिर हिंसा की। बुधवार देर रात नक्सलियों ने अपने ही 2 साथियों की हत्या कर दी।

इस बीच बचाव करने आए 15 ग्रामीणों को भी नक्सलियों ने जमकर पीटा, जिसमें 3 लोगों की हालत गंभीर है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नक्सलियों ने गांव में देर रात एक बैठक बुलाई थी और ये आदेश दिया था कि बनी हुई सड़क को काट दिया जाए।

ये भी पढ़ें- इन 2 राज्यों में बाढ़ ने मचाई तबाही, रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी NDRF की टीम

नक्सलियों के इस आदेश से उनके ही कुछ साथी सहमत नहीं थे, जिस वजह से विवाद हो गया। बजरंगी और टिडो नाम के नक्सली ने नक्सलियों के आदेश को मानने से इनकार कर दिया और कहा कि सड़क के बनने से गांववालों को आराम मिलेगी।

इस बात से नक्सली कमांडर सोमरू और जयलाल भड़क गए और उन्होंने दोनों की हत्या कर दी। इस दौरान जो भी ग्रामीण बीच-बचाव करने के लिए आए, उनकी भी पिटाई की गई।

मिली जानकारी के मुताबिक ये मामला अरनपुर थाना क्षेत्र के पोटाली गांव का है।

ये भी देखें:

इससे पहले भी छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा (Dantewada) में नक्सलियों (Naxalites) ने उपद्रव मचाया था। नक्सलियों ने 17 जुलाई की रात ग्रामीणों की बेरहमी से पिटाई की थी, जिससे 25 गांव वाले घायल हो गए थे। यह घटना जिले के काटेकल्याण थाने के पारचेली गांव की थी।

जानकारी के मुताबिक, यह सभी ग्रामीण अपने इलाके में विकास की मांग कर रहे थे, जिसकी वजह से वे नक्सलियों (Naxals) की आंखों में खटक रहे थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें