Naxals

झारखंड (Jharkhand) में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ सरकार का रुख काफी सख्त है। नक्सलवाद (Naxalism) पर लगाम लगाने के लिए कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में राज्य सरकार ने प्रदेश के 14 कुख्यात नक्सलियों पर नए सिरे से इनाम की घोषणा की है।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, नारायणपुर के ओरछा थाना क्षेत्र में नक्सलियों (Naxali) के बिझाये बारूदी सुरंग में हुए विस्फोट में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के 16वीं बटालियन के दो जवान संतोष यादव और महेश अलामी घायल हो गए।

माओवादियों (Maoists) के खिलाफ सलवा जुडूम कार्यकर्ताओं की हत्या, पुलिस शिविर पर हमला करने, पुलिस टीम पर हमला करने और साल 2013 में बासागुड़ा के साप्ताहिक बाजार में पत्रकार साई रेड्डी की हत्या में शामिल रहने का आरोप है।

नक्सली (Naxals)  हमेशा से विकास कार्यों में खलल डालते आए हैं। वे अपनी करतूतों से आम लोगों की जिंदगी मुश्किल बनाने पर तुले रहते हैं। बिहार (Bihar)  के गया जिले के नक्सल प्रभावित कोंच प्रखंड में नक्सलियों (Naxalites) की काली करतूतों की वजह से विकास के कार्यों में बाधा पड़ रही है।

नक्सली (Naxali) भीमा बारसे, सोना ताती, माड़का बारसे और पिट्टे 2019 में बीजेपी विधायक भीमा मंडावी के वाहन को विस्फोट से उड़ाने की घटना में शामिल थे। जिसमें विधायक मंडावी की मौत हो गई थी।

नक्सलियों (Naxalites) ने युवक के पेट में गोली मारी है। पुलिस टीम ने डेड बॉडी के पास से एक पर्चा भी बरामद किया है, जिसमें नक्सलियों ने मारे गये युवक पर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया है।

बिहार (Bihar) के औरंगाबाद जिले के देव एवं मदनपुर थाना का दक्षिणी क्षेत्र भाकपा माओवादी नक्सलियों का इलाका माना जाता है। इलाके के जंगल और पहाड़ नक्सलियों के सेफ जोन हैं। इस जोन में नक्सलियों का ही बोल-बाला है।

हेलता गांव के जंगलों में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान एक नक्सली साथी के घर में कई नक्सली खाना खा रहे थे। उसी दौरान पुलिस ने सभी को धर-दबोच लिया।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। ताजा मामला सुकमा का है। यहां एरिया डोमिनेशन के दौरान फोर्स की अलग-अलग टुकड़ियों ने सोमवार को 5 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।

लाल आतंक के गढ़ बस्तर (Bastar) में नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। आए दिन नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ की खबरें आती रहती हैं। सुरक्षाबलों को चकमा देने के लिए नक्सली नई-नई चालें भी चलते रहते हैं।

झारखंड (Jharkhand) के सिमडेगा में पुलिस (Police) को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी सफलता हाथ लगी है। एसपी के निर्देश पर पुलिस ने पीएलएफआई (PLFI) के तीन हार्डकोर नक्सिलयों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया।

झारखंड (Jharkhand) में नक्सलियों (Naxals) पर प्रहार कर उनके नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए पुलिस मुख्यालय जबरदस्त प्लान तैयार किया है। इस एक्शन प्लान को पूरा करने की जिम्मेदारी नक्सल प्रभावित जिलों के एसपी को दी गई है।

झारखंड (Jharkhand) में कमजोर पड़ चुके नक्सली संगठन (Naxali Organization) अब युवाओं को हर महीने 10-12 हजार रुपए की सैलरी का लालच देकर संगठन में शामिल कर रहे हैं।

झारखंड (Jharkhand) के गिरिडीह जिले का पारसनाथ पहाड़ वाला इलाका नक्सलियों (Naxals) का सेफ जोन माना जाता है। इसी इलाके में नक्सलियों का ठिकाना है, जहां वे अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए योजना बनाते हैं।

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बालाघाट (Balaghat) जिले का घुईटोला गांव दो जिलों की सीमा पर बसा है। आधा गांव बालाघाट में है तो सड़क का दूसरा हिस्सा मंडला जिले की सीमा पर है।

झारखंड (Jharkhand) की लातेहार जिला पुलिस और लातेहार अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी बिरेंदर राम 30 अक्टूबर को सदर प्रखंड लातेहार के पतरातू के रहने वाले होमगार्ड के शहीद (Martyr) जवान सकिंदर सिंह के घर पहुंचे।

पुलिस को खुफिया सूचना मिली थी कि पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) के कुछ नक्सली, रंगदारी वसूलने के लिए बुंडू ममाइल जंगल से गांव में पहुंच रहे हैं।

यह भी पढ़ें