नजीर! नक्सली हमले में शहीद हुए थे पति, वीरांगना ने कोविड-19 से लड़ाई में की लाखों रुपए की मदद

इसी साल छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में हुए एक नक्सली हमले (Naxal Attack) में राजस्थान के अलवर के बहरोड़ के गंडाला गांव के रहने वाले अजीत सिंह मीणा शहीद (Martyr) हो गए थे। शहीद (Martyr) की वीरांगना ने कोविड-19 (COVID-19) से जूझ रहे देश की सेवा के लिए अपनी जमा पूंजी में से 5 लाख रुपए निकालकर मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कर दिये।

Martyr

शहीद (Martyr) की वीरांगना ने कोविड-19 से जूझ रहे देश की सेवा के लिए अपनी जमा पूंजी में से 5 लाख रुपए निकालकर मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कर दिए।

इसी साल छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में हुए एक नक्सली हमले (Naxal Attack) में राजस्थान के अलवर के बहरोड़ के गंडाला गांव के रहने वाले अजीत सिंह मीणा शहीद (Martyr) हो गए थे। सीआरपीएफ (CRPF) की कोबरा बटालियन- 204 के हेड कांस्टेबल शहीद अजीत सिंह 10 फरवरी को बीजापुर नक्सली हमले के दौरान घायल हो गये थे। श्रीनारायण अस्पताल रायपुर में उपचार के 17 फरवरी को उन्होंने अंतिम सांस ली थी। शहीद (Martyr) के परिवार वालों ने उस वक्त भी अदम्य साहस का परिचय दिया था और अब जब देश कोरोना (Coronavirus) जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा है तब इस शहीद के परिवार वालों ने बड़ा नजीर पेश किया है।

शहीद (Martyr) की वीरांगना ने कोविड-19 (COVID-19) से जूझ रहे देश की सेवा के लिए अपनी जमा पूंजी में से 5 लाख रुपए निकालकर मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कर दिए। वीरांगना के इस कदम से जिला प्रशासन और शहीद का पूरा गांव गदगद हैं। अलवर जिले की शहीद वीरांगना अनिता मीणा को लेकर हर कोई यही कह रहा है कि उनके पति ने जब देशसेवा में प्राण न्योछावर कर दिए तो उसके बाद उनकी वीरागंना भी देश सेवा में आगे आने में कतई नहीं हिचकी।

Jammu-Kashmir: सुरक्षाबलों को मिली एक और कामयाबी, पठानकोट के बाद शोपियां से लश्कर का आतंकी गिरफ्तार

अनिता मीणा ने प्रदेशवासियों की सहायता के लिए एसडीएम बहरोड़ को मुख्यमंत्री सहायता कोष में 5 लाख रुपये का चैक सौंपा है। इस बेमिसाल काम के बाद शहीद की वीरांगना ने कहा कि ‘पति ने देश की रक्षा के लिए बलिदान दिया था….इसलिए मैंने भी इस राष्ट्रीय आपदा के समय देश और राज्य के लोगों के सहयोग के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष के 5 लाख रुपये की राशि भेंट की है ताकि प्रभावितों को राहत मिल सके।’

एक शहीद (Martyr) की पत्नी का देश के प्रति यह प्रेम देख कर यहां कर एसडीएम संतोष कुमार मीणा ने उनकी सराहना करते हुए कहा कि ‘शहीद का परिवार आज भी देश सेवा के लिए समर्पित है यह देखकर अच्छा लगा…अमर शहीद अजीत सिंह की कमी तो पूरा नहीं कर सकते, लेकिन शहीद परिवार को किसी भी प्रकार का दुःख तकलीफ ना हो इसके लिए जिला प्रशासन और उपखण्ड प्रशासन सदा उनके साथ खड़ा है।’

आपको बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना (Coronavirus) के खिलाफ आज पूरा देश जंग लड़ रहा है। राजस्थान, महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्य प्रदेश तथा गुजरात यह देश के ऐसे 5 राज्य हैं जहां कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है। सरकार लगातार लोगों से अपील कर रही है कि वो संकट की इस घड़ी में गरीबों का ख्याल रखें और मदद के लिए आगे आएं।

यह भी पढ़ें