Martyr

हम बात कर रहे हैं बीते 5 अप्रैल को जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में शहीद हुए बालकृष्ण की। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के पुईद गांव के रहने वाले बालकृष्ण भारतीय सेना में पैराट्रूपर थे।

हमारी सेना के जवान देश सेवा के लिए हमेशा ही अपने प्राण तक त्यागने के लिए तैयार रहते हैं। कई बार वो प्राकृतिक या अन्य विपदा के समय भी अपनी जान की बाजी लगाकर नागरिकों की नि:स्वार्थ मदद करते हैं।

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुंछ जिले के दिगवार सेक्टर में 8 फरवरी की देर रात पाकिस्तानी गोलाबारी में भारतीय सेना (Indian Army) 5 राजपूत रेजिमेंट के तीन जवान घायल हो गए थे।

श्रीनगर में 5 फरवरी को CRPF पर हुए आतंकवादी हमले में बिहार के भोजपुर जिले के एक सपूत ने अपनी जान न्योछावर कर दी। स्वतंत्रता संग्राम के महनायक वीर बाकुंड़े बाबू कुंवर सिंह की धरती का लाल रमेश रंजन आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गया।

शहीद सौरभ कटारा (Saurabh Katara) की कहानी कलेजा चीर कर रख देती है। शादी के सिर्फ आठ दिन हुए थे, लेकिन देश की रक्षा के लिए सौरभ ने ड्यूटी ज्वाइन की।

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से शहीद (Martyr) एसआई मूलचंद कंवर की सवा साल की बेटी का भावुक कर देनेवाला वीडियो सामने आया है।

हिमाचल प्रदेश के सुबाथू का जांबाज श्रीनगर में शहीद, पैट्रोलिंग के दौरान लैंड माइन विस्फोट में जवान हुआ शहीद

एटा जिले के राजा का रामपुर थाना क्षेत्र के ग्राम असदपुर के बहादुर जवान सनोज यादव (Martyr Sanoj Yadav) ने...

झारखंड के डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्व विद्यालय ने ऐसा ही एक सराहनीय पहल किया है। विश्व विद्यालय ने शहीदों के आश्रितों या बच्चों के नामांकन में 3 प्रतिशत आरक्षण देने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें