Treason case

इन 3 नक्सलियों (Naxalites) का नाम मरांग दा, किसुन किस्कू, श्याम हेम्ब्रम है। ये तीनों नुनुचंद महतो के दस्ते के लिए काम करते करते थे।

नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ देशद्रोह का केस चलाने के लिए राज्य सरकार की मंजूरी जरूरी होती है। सरकार से मंजूरी मिलने के बाद ही कोर्ट में ये केस चलाया जा सकता है।

डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने जो आवेदन राज्य सरकार को भेजा था, उसे सरकार ने मंजूर कर लिया है। राज्य सरकार ने डीसी को अभियोजन की मंजूरी दी है।

नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसी के तहत एक करोड़ के 2 इनामी नक्सलियों समेत 17 माओवादियों पर देशद्रोह का मुकदमा चलेगा।

डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने बुधवार को अभियोजन की स्वीकृति दी और देशद्रोह की धारा में राज्य सरकार से जल्द स्वीकृति आदेश देने की मांग की।

उस समय नक्सली घटनाएं चरम पर थीं और पुलिस द्वारा नक्सलियों (Naxal) के घर में घुसकर इस प्रकार की कार्रवाई करना खतरे से खाली नहीं था।

यह भी पढ़ें