नक्सलियों ने सुरक्षाबलों के कैंप पर हमला किया, 2 अधिकारी समेत एक जवान शहीद

इस हमले में 2 अधिकारियों समेत 32 साल के अनुज सैनी शहीद हुए। मीडिया से बात करते हुए अनुज के पिता चंद्र किरण सैनी ने बताया कि सोमवार रात करीब 12 बजे नक्सली हमला हुआ था।

naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

नक्सली, सेना से बौखलाए हुए हैं, इसलिए लगातार जवानों के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। नक्सलियों (Naxals) ने सोमवार रात BSF के एक कैंप पर हमला कर दिया, जिसमें दो अधिकारी समेत एक जवान शहीद हो गया।

दरअसल सोमवार रात बीएसएफ के जवान अनुज सैनी के कैंप पर नक्सली (Naxal) हमला हुआ, जिसमें वह शहीद हो गए। वह पश्चिम बंगाल के किशनगंज में तैनात थे और सरसावा के गांव सैदपुरा के निवासी थे।

इस हमले में 2 अधिकारियों समेत 32 साल के अनुज सैनी शहीद हुए। मीडिया से बात करते हुए अनुज के पिता चंद्र किरण सैनी ने बताया कि सोमवार रात करीब 12 बजे नक्सली हमला हुआ था, इस हमले में अनुज समेत 2 बड़े अधिकारी शहीद हो गए।

अनुज सैनी के पिता चंद्र किरण सैनी ने बताया कि अनुज 2009 में बीएसएफ मे भर्ती हुए थे और पहली पोस्टिंग जोधपुर में हुई थी। सोमवार रात अनुज सोने के लिए जा रहे थे, तभी नक्सलियों ने हमला कर दिया।

ये भी पढ़ें- दंतेवाड़ा में 3 नक्सली गिरफ्तार, पुलिस पर की थी फायरिंग, बीजापुर में भी हुई एक की गिरफ्तारी

इससे पहले छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने जवानों पर हमला करने की साजिश रची। शहीदी सप्ताह के आखिरी दिन यानी मंगलवार को जवानों ने 3 आईईडी विस्फोटक बरामद किए हैं। गनीमत ये रही कि इन्हें डिफ्यूज कर दिया गया।

अगर समय रहते ऐसा न किया जाता तो जवानों को नुकसान पहुंच सकता था। ये पूरा मामला किरंदुल थाना क्षेत्र का है। दरअसल किरंदुल थाने और डीआरजी को ये जानकारी मिली थी कि नक्सलियों ने हिरोली-पिरनार के रास्ते में विस्फोटक लगाया है, जिसके बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया और तीनों आईईडी विस्फोटक को बरामद कर लिया गया।

इसमें 10 किलो की एक कमांड आईईडी और 3-3 किलो के दो प्रेशर आईईडी बरामद हुए हैं। बता दें कि सोमवार को टेटम के जंगलों में पुलिस की नक्सलियों से मुठभेड़ हुई थी।

ये भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें