जम्मू कश्मीर: भारत में आतंकी घुसपैठ के लिए पाकिस्तानी सेना ने झोंकी अपनी पूरी ताकत, भारतीय सेना भी दे रही मुंहतोड़ जवाब

पाकिस्तान (Pakistan Army) की ओर से विदेशी आतंकियों (Terrorists) के घुसपैठ की लगातार कोशिशें की जा रही हैं लेकिन हमारा घुसपैठ विरोधी ग्रिड़ मजबूत है जिसके कारण आतंकी घुसपैठ की कोशिशें अधिकतर विफल हुईं हैं

Pakistan Army

भारतीय जवान। (फाइल फोटो)

आतंकी दस्तों की घुसपैठ को लेकर पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) ने सरहद पर अपनी पूरी ताकत लगा दी है। सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) आजकल विशेषकर नियंत्रण रेखा के आसपास खराब मौसम की आड़ में अपनी बार्डर ऐक्शन टीम (BAT) की मदद से इन आतंकी दस्तों की घुसपैठ की कोशिश में है। नियंत्रण रेखा के राजौरी व पुंछ जिले के निकट पाकिस्तानी चौकियों के पास भारी संख्या में आतंकियों (Terrorists) की मौजूदगी बताई गई है।

अमर बलिदानी खुदीराम बोस: पढ़ाई छोड़ जंग-ए-आजादी में कूदने वाला बालक, जिसने रची मजिस्ट्रेट किंग्सफोर्ड की हत्या की साजिश

ज्ञात हो कि पाकिस्तान की ओर से नियंत्रण रेखा और भारत–पाक सीमा पर सीजफायर तोड़ कर लगातार दवाब बनाने की कोशिश की जा रही है। घाटी के कुपवाड़ा की नियंत्रण रेखा के टंगदार‚ मचेल‚ नौगाम सेक्टरों के अलावा खासकर पुंछ जिले के मेंढर सब–डि़विजन की कृष्णा घाटी‚ शाहपुर किरनी‚ सब्जियां‚ मनकोट तथा बालाकोट सेक्टर में पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) बिना उकसावे के लगातार गोलाबारी करती आ रही है जिसके कारण बॉर्डर के समीप रह रहे नागरिकों को नुकसान झेलना पड़ रहा है।

हालांकि भारतीय सेना (Indian Army) की ओर से पाकिस्तान को निरंतर मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है‚ जिससे उसे काफी नुकसान भी हो चुका है लेकिन वह फिर भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा।

गौरतलब है कि पिछले दिनों राज्य पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने भी इस बात की आशंका जताई थी कि पाकिस्तान की ओर से विदेशी आतंकियों (Terrorists) के घुसपैठ की लगातार कोशिशें की जा रही हैं लेकिन हमारा घुसपैठ विरोधी ग्रिड़ मजबूत है जिसके कारण आतंकी घुसपैठ की कोशिशें अधिकतर विफल हुईं हैं फिर भी कुछ आतंकी घुसपैठ करने में कामयाब हो गए।

जम्मू स्थित रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ले. कर्नल देवेंद्र आनन्द ने कहा कि इस साल अभी तक पाकिस्तान करीब 2800 बार सीजफायर तोड़ चुका है। लेकिन उसे हर बार भारतीय सेना (Indian Army) ने करारा जवाब दिया है।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें