भारतीय जवानों ने पाकिस्तानी सैनिक को मार गिराया, पाक ने अपने ही जवानों से किया धोखा

Pak Army, LoC, Indian Army, sirf sach, sirfsach.in

पाकिस्तान ने जब-जब भारत के खिलाफ साजिश की है तब-तब उसे मुंह की खानी पड़ी है। लेकिन भारतीय सेना ने एक बार फिर पाकिस्तानी सैनिकों को मुहंतोड़ जवाब दिया है। एक बार फिर पाकिस्तान की नापाक हरकतों का सबसे बड़ा सबूत सामने आया है। यह सबूत पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर से आया है। PoK के हाजीपुर से एक वीडियो सामने आया है जिसमें साफ देखा जा सकता है कि पाकिस्तान अपने मारे गए सैनिकों के शव उठा रहा है। वीडियो में पाकिस्तानी सैनिक हाथ में सफेद झंडा लिए हुए दिख रहे हैं। ये सैनिक रस्सियों के सहारे मारे गए सैनिकों के शव को ले जा रहे हैं।

पाकिस्तान के ये सैनिक सीजफायर उल्लंघन के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई में मारे गए थे। यह वीडियो 10 और 11 सितंबर के बीच का बताया जा रहा है। दरअसल, पाकिस्तान द्वारा युद्धविराम का उल्लंघन किए जाने के बाद भारतीय जवानों ने ये कार्रवाई की। बता दें कि सफेद झंडे का मतलब आत्मसमर्पण करना या युद्धविराम की मांग करना है। भारतीय सेना ने सफेद झंड़े को देखकर उसका मान रखा, उन्होंने पाकिस्तान के सैनिकों पर गोली नहीं चलाई और उनके सैनिकों के शव ले जाने दिए। ये पूरी घटना एलओसी पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

सेना के सूत्रों के मुताबिक, 10-11 सितंबर को भारतीय सेना के जवानों ने पीओके के हाजीपीर सेक्टर में सिपाही गुलाम रसूल को मार गिराया था। रसूल पाकिस्तान के पंजाब प्रांत बहावलनगर से था। शुरू में पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्ष विराम उल्लंघन को तेज करते हुए शव को बरामद करने की कोशिश की। इस दौरान पाकिस्तान के दूसरे पंजाबी मुस्लिम सैनिक को मार गिराया गया। सेना के सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तानी सेना दो दिनों से लगातार कोशिशों के बावजूद शवों को बरामद नहीं कर सकी। नाकामयाबी हाथ लगने के बाद 13 सितंबर को पाकिस्तानी सेना ने सफंद झंडा दिखाकर अपने सैनिकों के शव हासिल किए।

पढ़ें: सामुदायिक रेडियो से जुड़ेंगे नक्सल प्रभावित इलाके, 118 नए स्टेशंस को मंजूरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here