Indo-US संबंध 21वीं सदी की सबसे बड़ी बात, आतंकवाद समर्थकों की तय होगी जवाबदेही- मोदी

भारत–अमेरिका संबंधों को 21वीं सदी के सबसे अहम गठजोड़ में से एक करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार को कहा कि द्विपक्षीय रक्षा एवं सुरक्षा सहयोग में वृद्धि दोनों देशों के संबंधों का एक महत्वपूर्ण आयाम है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप (Donald Trump) के साथ कारोबार‚ आतंकवाद से मुकाबला‚ ऊर्जा सहयोग जैसे मुद्दों पर समग्र वार्ता के बाद संयुक्त संवाददाता संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) ने कहा‚ ‘जहां तक द्विपक्षीय कारोबार का सवाल है‚ हमारे वाणिज्य मंत्रियों के बीच सकारात्मक वार्ताएं हुई हैं। उन्होंने कहा‚ राष्ट्रपति ट्रंप (Donald Trump) और मैं आज सहमत हुए हैं कि हमारे वाणिज्य मंत्रियों के बीच जो सहमति बनी है‚ उसे हमारी टीम कानूनी रूप दें। हम एक बडे़ कारोबारी समझौते के लिए वार्ता शुरू करने पर भी सहमत हुए हैं। हमें आशा है कि आपसी हित में इसके अच्छे परिणाम निकलेंगे।’

Narendra Modi

मोदी (Narendra Modi) ने वैश्विक स्तर पर भारत और अमेरिका सहयोग को समान लोकतांत्रिक मूल्यों और उद्देश्यों पर आधारित बताया और कहा कि ख़ासतौर पर हिन्द प्रशांत और नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए यह सहयोग विशेष महत्व रखता है।

पढ़ें: ट्रंप के बयान से क्यों बेवजह खुश है पाकिस्तान?

प्रधानमंत्री ने कहा‚ हम दोनों देश विश्व में संपर्क‚ आधारभूत ढांचे के विकास में टिकाऊ एवं पारदर्शी वित्त पोषण के महत्व पर सहमत हैं। हमारा यह आपसी तालमेल एक–दूसरे के ही नहीं‚ बल्कि विश्व के हित में है।

मोदी (Narendra Modi) ने कहा‚ राष्ट्रपति ट्रंप (Donald Trump) का ऐतिहासिक और भव्य स्वागत हमेशा याद रखा जाएगा। अमेरिका और भारत के संबंध सिर्फ दो सरकारों के बीच नहीं हैं‚ बल्कि लोक केंद्रित हैं। यह संबंध‚ 21वीं सदी का सबसे महत्वपूर्ण गठजोड़ है।

राष्ट्रपति ट्रंप (Donald Trump) ने मादक पदार्थ और इससे जुड़़ी समस्याओं से निपटने को प्राथमिकता दी है। आज हमारे बीच मादक पदार्थों की तस्करी‚ मादक पदार्थ से जुड़े आतंकवाद और संगठित अपराध जैसी गंभीर समस्याओं के बारे में एक नए तंत्र पर भी सहमति बनी।

आतंकवाद समर्थकों को जिम्मेदार ठहराएंगे

<

p style=”text-align: justify;”>मोदी (Narendra Modi) ने कहा‚ आतंकवाद के समर्थकों को जिम्मेदार ठहराने के लिए आज हमने अपने प्रयासों को और आगे बढ़ाने का निश्चय किया है। राष्ट्रपति ट्रंप (Donald Trump) और मैंने हमारे संबंधों को समग्र वैश्विक सामरिक गठजोड़ के स्तर पर ले जाने का निर्णय किया है। तेल और गैस के लिए अमेरिका‚ भारत का एक बहुत महत्वपूर्ण स्रोत बन गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here