बिहार और झारखंड पुलिस को मिली कामयाबी, कुख्यात नक्सली गिरफ्तार

jharkhand, bihar, giridih district, deori, naxalite tejo mandal, martyre week of cpi maoist, jamui, crpf, central reserve police force, sirf sach, sirfsach.in
सर्च ऑपरेशन के दौरान हार्डकोर नक्सली तेजो मंडल गिरफ्तार

नक्सलियों के खिलाफ बिहार और झारखंड पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने एक हार्डकोर वांटेड नक्सली को गिरफ्तार किया है। झारखंड-बिहार के सीमावर्ती इलाके में गिरिडीह और जमुई की पुलिस के साथ-साथ सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों के संयुक्त सर्च ऑपरेशन के दौरान हार्डकोर नक्सली तेजो मंडल को गिरफ्तार किया। तेजो की बाइक चलाने वाले अजय मंडल को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि, अजय के नक्सली होने की पुष्टि नहीं की गयी है। ये दोनों चकाई थाना क्षेत्र के गादी गांव के रहने वाले हैं। इन दोनों को 24 सितंबर की रात को नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे सर्च ऑपरेशन के दौरान भेलवाघाटी और चकाई थाना के सीमा पर बसे गांव गादी-बिल्ली से गिरफ्तार किया गया।

जानकारी के मुताबिक, गिरिडीह और जमुई पुलिस और भेलवघाटी बी सेवक एवं चकाई 215 बटालियन के सीआरपीएफ जवानों द्वारा 24 सितंबर को संयुक्त रूप से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था। इसी दौरान बाइक पर सवार दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसमें एक कुख्यात नक्सली तेजो मंडल था और दूसरे का नाम अजय मंडल उर्फ कारू बताया गया है। भेलवाघाटी बी7 बटालियन के सहायक कमांडेंट अजय कुमार ने तेजो मंडल की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। लेकिन कारू के बारे में अब तक यह नहीं कहा है कि वह नक्सली है। बता दें कि 21 मई, 2016 को चकाई थाना क्षेत्र के गादी गांव में हुए तिहरे हत्याकांड में तेजो मंडल नामजद आरोपी है।

पढ़ें: ड्रोन के जरिए सीमा पार से लाए गए थे हथियार, बड़े हमले की थी साजिश

पुलिस को लंबे अरसे से उसकी तलाश थी। तेजो और कारू से पुलिस चकाई थाना में पूछताछ कर रही है। इससे पहले, झारखंड के नक्सल प्रभावित खूंटी जिले में पुलिस ने एक महिला नक्सली को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार महिला नक्सली पांच लाख के इनामी नक्सली बुधराम स्वांसी उर्फ प्रदीप की पत्नी सुनीता स्वांसी उर्फ एलिसा है। गिरफ्तार सुनीता स्वांसी भाकपा माओवादी के हार्डकोर नक्सली कुंदन पाहन, अमित मुंडा, महाराज प्रामाणिक, किशन दा, अनल दा और रमेश जैसे हार्डकोर नक्सलियों के साथ काम कर चुकी है। इसके खिलाफ अड़की थाना में आर्म्स एक्ट तथा 17 सीएलए के मामले दर्ज हैं। पुलिस को लंबे समय से इस महिला नक्सली की तलाश थी।

यह जानकारी प्रभारी एसपी आशुतोष शेखर ने दी। एसपी के मुताबिक, उन्हें सूचना मिली थी कि पांच लाख के इनामी नक्सली बुधराम स्वांसी उर्फ प्रदीप की पत्नी सुनीता स्वांसी उर्फ एलिसा अड़की थाना क्षेत्र के जरंगा टोला गोड़ाहापा स्थित अपने घर आयी हुई है। इस सूचना के आधार पर आवश्यक कार्रवाई के लिए अड़की थाना प्रभारी विक्रांत कुमार तथा सीआरपीएफ 157 बटालियन के विष्णु कुमार शर्मा के नेतृत्व में छापामारी टीम का गठन किया गया। टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जरंगा टोला गोड़ाहापा स्थित घर से सुनीता स्वांसी उर्फ एलिसा को गिरफ्तार कर लिया। सुनीता उर्फ एलिसा एक खूंखार नक्सली है और वह सारंडा और पोड़ाहाट जंगलों में ट्रेंनिग कर चुकी है।

पढ़ें: जैश-ए-मोहम्मद ने बदला लेने की धमकी दी, निशाने पर पीएम मोदी, अमित शाह और NSA डोभाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here