जम्मू कश्मीर: सुरक्षाबलों की कार्रवाई से डरे आतंकी, टॉयलेट सीट के नीचे सेप्टिक टैंक में बना रहे बंकर

पुलिस और सेना (Indian Army) के मुताबिक, कार्रवाई से डरे आतंकियों के पास नए ठिकाने ढूंढने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

Jammu and Kashmir

सांकेतिक तस्वीर।

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह का कहना है कि अंडरग्राउंड बंकर और अस्थाई गुफा कोई नई बात नहीं है। कश्मीर में पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं। एक बार तो आतंकी एक शौचालय के सेप्टिक टैंक में छिप गए थे।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। ऐसे में आतंकी खुद को बचाने के लिए नए-नए तरीके खोज रहे हैं।

अब आतंकी सुरक्षाबलों से बचने के लिए टॉयलेट सीट के नीचे सेप्टिक टैंक में बंकर बना रहे हैं। घाटी में कई आतंकियों के ढेर होने से आतंकी डरे हुए हैं और जान बचाने के लिए हर संभव तरीका अपना रहे हैं।

पुलिस और सेना (Indian Army) के मुताबिक, कार्रवाई से डरे आतंकियों के पास नए ठिकाने ढूंढने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। इसलिए वह ऐसे तरीके अपना रहे हैं।

ये भी पढ़ें- Coronavirus: भारत में कोरोना के मामले हुए 62 लाख से ज्यादा, 24 घंटे में आए 80,472 नए केस

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह का कहना है कि अंडरग्राउंड बंकर और अस्थाई गुफा कोई नई बात नहीं है। कश्मीर में पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं। एक बार तो आतंकी एक शौचालय के सेप्टिक टैंक में छिप गए थे।

अधिकारियों ने बताया कि जब शौचालय की खुदाई शुरू की गई तो नीचे से गोलीबारी होने लगी, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई की गई और लश्कर के 4 आतंकी मारे गए थे।

अधिकारियों ने ये भी बताया कि 2019 में भी कश्मीर के पुलवामा-शोपियां सीमा पर लस्सीपुरा इलाके में ऐसा ही मामला सामने आया था। आतंकियों को ढूंढने के लिए सैप्टिक टैंक की खुदाई की गई, जिसमें उनके बारे में अहम सुराग मिले।

ये भी देखें-

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें